Sunday, Feb 28, 2021
-->
3 women councilors of bjp worsened by hunger strike outside cm kejriwal residence kmbsnt

CM केजरीवाल के आवास के बाहर धरने पर बैठे BJP के मेयर जय प्रकाश की बिगड़ी तबीयत

  • Updated on 12/19/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind kejriwal) के आवास के बाहर निगम फंडिंग को लेकर धरने पर बैठे बीेजेपी के मेयर जय प्रकाश की तबीयत बिगड़ गई है। डॉक्टर ने उन्हें तुरंत अस्पताल में भर्ती होने की सलाह दी है। वहीं शुक्रवार को धरने पर बैठी तीनों महापौरों के स्थान पर दो दिन से भूख हड़ताल (Hunger Strike) पर बैठीं तीन महिला पार्षदों (BJP women councilors) की हालत बिगड़ गई। उन्हें डॉक्टरों की देखरेख में उत्तरी दिल्ली नगर निगम के हिंदूराव अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

अनशन की अगुवाई कर रहे उत्तरी दिल्ली के महापौर जयप्रकाश ने शुक्रवार को बताया कि अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल के दूसरे दिन पूर्व महापौर सुनीता कांगड़ा, पूर्वी दिल्ली नगर निगम में स्वास्थ्य समिति की अध्यक्ष कंचन महेश्वरी और दक्षिणी दिल्ली नगर निगम में वार्ड समिति की उपाध्यक्ष माया बिष्ट की शुगर की मात्रा कम होने की वजह से तबीयत बिगड़ गई। इन महिला पार्षदों का अस्पताल में इलाज चल रहा है। 

CM केजरीवाल के घर के बाहर BJP नेताओं के विरोध प्रदर्शन से दिल्ली हाईकोर्ट नाराज

22 पार्षदों के स्वास्थ्य की समय-समय पर जांच
धरना स्थल पर महापौरों सहित अनशन कर रहे सभी 22 पार्षदों के स्वास्थ्य की समय-समय डॉक्टर की टीम जांच कर रही है। जय प्रकाश ने बताया कि दिल्ली के तीनों महापौर व पार्षद इस कड़ाके की ठंड में पिछले दो दिनों से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल व 12 दिनों से नगर निगमों का बकाया 13000 करोड़ रुपए जारी करने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री आवास के बाहर धरने पर बैठे हैं, लेकिन मुख्यमंत्री के कान पर जूं नहीं रेंग रही है।

यूपी और दिल्ली के स्कूल मॉडल पर भाजपा से चर्चा को तैयार सिसोदिया 

पार्षदों से मिलने पहुंचे विजय गोयल
इधर दिन में धरना स्थल पर पार्षदों से मिलने के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय गोयल पहुंचे। उन्होंने महापौरों व अन्य पार्षदों से हाल-चाल पूछा तथा कहा कि वे पूरी तरह से उनके साथ हैं। दक्षिण दिल्ली की महापौर अनामिका ने कहा कि वे अनशन व धरना प्रदर्शन तब तक जारी रखेंगे जब तक की निगमों की बकाया राशि जारी नहीं कर दी जाती है। 

उन्होंने कहा कि यह अनिश्चितकालीन भूख-हड़ताल उनके स्वयं के हित के लिए नहीं बल्कि तीनों निगमों के 2 लाख से अधिक कर्मचारियों एवं पेंशनरों के हित के लिए है साथ ही दिल्ली के विकास कार्य जो इस राशि के बिना प्रभावित हो रहे हैं, उनके लिए है, इसलिए दिल्ली सरकार जल्द से जल्द बकाया राशि को जारी करे।

कर्मचारी यूनियन को धरने के बदले वेतन देने को ब्लैकमेल कर रहे BJP नेता: AAP

घोटाले के आरोप की जांच को तैयार : कपूर
वहीं दिल्ली भाजपा प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने सीएम केजरीवाल द्वारा निगम में 2500 करोड़ के घोटाले को कॉमनवेल्थ गेम्स से बड़ा घोटाला बताए जाने पर कहा है कि भाजपा, उत्तरी नगर निगम पर लगाए गए 2500 करोड़ के घोटाले के आरोप की जांच के लिए तैयार है। कपूर ने कहा कि लेकिन आज जिस तरह सत्ताधारी आम आदमी पार्टी ने भाजपा शासित नगर निगमों को भ्रष्ट साबित करने के लिए विधानसभा सदन का दुरुपयोग किया है।

ये भी पढ़ें-

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.