Sunday, Dec 15, 2019
30-ac-luxury-buses-will-be-run-for-delhi-darshan-only-rs-100-will-charged

दिल्ली दर्शन के लिए सरकार चलाएगी 30 AC लग्जरी बसें, मात्र 100 रुपए होगा किराया

  • Updated on 6/16/2019

नई दिल्ली/ताहिर सिद्दीकी। दिल्ली दर्शन के लिए दिल्ली सरकार वातानुकूलित लग्जरी बसों की नई सर्विस शुरू करने की तैयारी कर रही है। इसमें करीब 30 अत्याधुनिक वातानुकूलित बसों को शामिल करने की प्लॉनिंग है। ऐतिहासिक और विशेष महत्व के करीब 50 स्थलों को इस बस सेवा से जोडऩे की योजना है। उन स्थलों को भी शामिल किया जाएगा, जिनका ऐतिहासिक महत्व होने के बावजूद देश-विदेश के पर्यटक उन तक नहीं पहुंच पाते हैं।

दिल्ली टूरिज्म एंड ट्रांसपोर्टेशन डेवलपमेंट कॉरपोरेशन (डीटीटीडीसी) ने इस योजना को उतारने के लिए कंसल्टेंट नियुक्त किया है। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए शुरू की गई हो-हो (होप ऑन होप आफ) बस सेवा के उम्मीद के मुताबिक कामयाब नहीं होने के बाद यह कदम उठाया जा रहा है।   एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस सर्विस के तहत करीब 50 ऐतिहासिक महत्व व अन्य विशेष स्थानों को तीन सर्किट से जोड़ा जाएगा। पर्यटकों के लिए इन तीनों सर्किट पर 15 से 20 मिनट के अंतराल पर बस मिलना सुनिश्चित किया जाएगा। एक सर्किट से दूसरे सर्किट के लिए बस पकडऩा भी आसान होगा।

एक टिकट से इस सेवा की सभी सर्किट की बसों में इसका उपयोग किया जा सकेगा। बसों में गाइड की सुविधा भी दी जाएगी। गाइडों को 6-7 महीने की ट्रेनिंग के बाद इन बसों में तैनात किया जाएगा। हो-हो बसों में यात्रा करने का टिकट 500 रुपए है,लेकिन इन बसों में किराया 100 रुपए रहने के आसार हैं। बता दें दिल्ली में पिछले कई साल से हो-हो बस सेवा चल रही हैं। दिल्ली पर्यटन एवं परिवहन विकास निगम इसे पर्यटकों की सुविधा के लिए चला रहा है। इस बस में टिकट लेकर आप प्रमुख स्मारकों व अन्य महत्वपूर्ण स्थानों पर जा सकते हैं।

सरकार की योजना यह थी कि पर्यटक दिल्ली आने पर इन बसों के माध्यम से दिल्ली का भ्रमण कर सकें। मगर यह योजना सफल नहीं हो पाई है। इसके चलते इस सेवा की बसें लगातार हटाई जाती रही हैं। अब केवल 6 बसें इस सेवा में चल रही हैं। मगर इनमें भी पर्यटकों की संख्या बेहद कम रहती है। सरकार इस सुविधा को सुधारने का प्रयास करती रही है। इसके तहत जनवरी 2017 में इन बसों के टिकट दिल्ली सरकार ने कार्यक्रमों की ऑनलाइन बुकिंग करने वाली वेबसाइट बुक माई शो से ऑनलाइन उपलब्ध कराने की भी व्यवस्था की है। बावजूद इसके इस सेवा की स्थिति में सु्धार नहीं हो सका है। ऐसे में डीटीटीडीसी ने लग्जरी बस सेवा के लिए बड़ी योजना बनाई है। 

बनाए जाएंगे अलग बस स्टॉप 
डीटीटीडीसी का कहना है कि इन बसों के लिए अलग से बस स्टॉप बनाए जाएंगे। वहां केवल यहीं बसें रुकेंगी। पर्यटकों के लिए तीनों सर्किट पर 15 से 20 मिनट में बस मिलना सुनिश्चित होगा। एक टिकट से इस सेवा की तीनों सर्किटों में इसका उपयोग किया जा सकेगा। उसका कहना है कि इस योजना को शुरू करने का मकसद पैसा कमाना नही, बल्कि पर्यटकों को सुविधा पहुंचाना है। अब इस सुविधा में सुधार के लिए फिर से योजना तैयार की गई है। बस जिस भी स्मारक या अन्य विशेष स्थान पर पहुंचेगी उससे पहले ही पर्यटकों को उसके बारे में हिन्दी और अंग्रेजी में जानकारी मिलनी शुरू हो जाएगी। जानकारी इतनी होगी कि यदि कोई पर्यटक नीचे न उतर कर बस में ही स्मारक या स्थान के बारे में जानकारी लेना चाहता है तो उसे यह जानकारी मिल सकेगी। इसके लिए हर सीट के साथ लीड लगी होगी जिसे कान में लगाकर पर्यटक जानकारी सुन सकेंगे। 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.