Monday, Jul 22, 2019

कर्नाटक: ट्रेन की लेटलतीफी से 400 बच्चों की 'नीट' परीक्षा छूटने के पीछे आखिर जिम्मेदार कौन

  • Updated on 5/6/2019

नई दिल्लीटीम डिजिटल। रविवार को देशभर में मेडिकल कॉलेजों में दाखिले के लिए नीट परीक्षा (राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा) (neet exam) आयोजित की गई थी। लेकिन दुर्भाग्यवश ट्रेन की लेटलतीफी के कारण कर्नाटक (karnataka) के लगभग 400 बच्चे इस परीक्षा को नहीं दे सके। खबर है कि बच्चों को हम्पी एक्सप्रेस (hampi express) से बेंगलुरू स्थित अपने परीक्षा केंद्रों पर पहुंचना था, लेकिन ट्रेन आठ घंटे की देरी से अपने गंतव्य पर पहुंची, जिसकी वजह से इन विद्यार्थियों की नीट की परीक्षा छूट गई।

SC राफेल पर पुनर्विचार और राहुल गांधी के खिलाफ अवमानना याचिका पर 10 मई को करेगा सुनवाई

उत्तर कर्नाटक से चलने वाली हम्पी एक्सप्रेस को अपने नियत समय सुबह 6.30 बजे बेंगलुरू पहुंचना था, लेकिन ट्रेन 2.36 बजे बेंगलुरू पहुंची, जिसकी वजह से परीक्षार्थी सही समय पर अपने परीक्षा केन्द्र पर नहीं पहुंच सके। परीक्षा का समय 2.30 मिनट रखा गया था और परीक्षा केन्द्र पर पहुंचने की अंतिम सीमा 1.30 बजे रखी गई थी।

जब दक्षिण-पश्चिम रेलवे से इसका कारण पूछा गया तो उन्होंने कहा कि नियमित मार्ग पर काम चल रहा था जिसकी वजह से हम्पी एक्सप्रेस का रास्ता बदल दिया गया। इसलिए ट्रेन के बेंगलुरू पहुंचने में देरी हुई। 

स्कूल बैग के भारी वजन से बच्चों को मिली बड़ी राहत, सरकार ने लागू किए ये नियम

परीक्षा छूटने से परेशान अभ्यार्थियों का कहना है कि उन्हें ट्रेन के रास्ता बदलने की पूर्व में कोई जानकारी नहीं दी गई थी। रेल अधिकारियों ने यह भी कहा है कि वह इस बाबत मानव संसाधन विकास मंत्रालय को पत्र लिख रहे हैं कि इस घटना से जो भी बच्चे प्रभावित हुए हैं उनकी परीक्षा दोबारा आयोजित की जाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.