Thursday, May 13, 2021
-->
47 people died in road accident in sidhi in madhya pradesh

मध्य प्रदेश के सीधी में दर्दनाक हादसा: अब तक 50 शव बरामद, बस ड्राइवर गिरफ्तार

  • Updated on 2/17/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के सीधी (Sidhi) जिले से सतना (Satna) जा रही एक बस अनियंत्रित होकर नहर में जा गिरी, बस में 55 से अधिक यात्री सवार थे। रेस्क्यू ऑपरेशन में 7 यात्रियों को बचा लिया गया है, जबकि 50 लोगों के शव निकाले जा चुके हैं, बाकी यात्रियों की तलाश अभी भी जारी रही है। पुलिस अधीक्षक सीधी के अनुसार, 42 शव परिजनों को सौंप दिए गए हैं। वहीं बस ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया गया है। 

जम्मू-कश्मीरः आज से दो दिवसीय दौरे पर घाटी पहुंचेगा विदेशी प्रतिनिधियों का दल, हालात का लेंगे जायजा

बस दुर्घटना में 50 यात्रियों की मौत
बता दें कि मध्य प्रदेश के सीधी जिले के रामपुरनैकिन थाना क्षेत्र में मंगलवार सुबह बाणसागर बांध की नहर में बस गिरने से 50 यात्रियों की मौत हो गई जबकि चालक औक क्लीनर सहित सात लोगों ने तैर कर जान बचा ली। इससे पहले कुल प्राप्त 47 शवों में 24 पुरुष और 21 महिलाएं एवं 2 बच्चे शामिल हैं। इनमें से अधिकतर मृतक सीधी और सिंगरौली जिले के हैं, और कुछ सतना जिले के निवासी बताए गए हैं। कुछ लोगों के लापता होने की भी आशंका है, जिनकी नहर में तलाश की गई। 

पुडुचेरी के उपराज्यपाल के पद से हटाई गई किरण बेदी, कांग्रेस की सरकार भी संकट में

दुर्घटना स्थल सीधी जिला मुख्यालय से लगभग 80 किलोमीटर दूर सरदा गांव में है। यहां सतना जिला मुख्यालय लगभग 100 किमी दूर है। सूत्रों के अनुसार बस की क्षमता 32 यात्रियों की थी, लेकिन इसमें लगभग 60 लोगों के सवार होने की जानकारी मिली है। जवलानाथ परिहार ट्रैवल्स की यह निजी बस सुबह लगभग 6 बजे सीधी से सतना के लिए रवाना हुई थी। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत निर्मित नहर के समानांतर चल रही सड़क पर आने के बाद यह हादसा हुआ और लगभग 7 बजे बस नहर में समा गई। उस मसय नगर में 20 फीट से अधिक पानी था। हादसे की सूचना के बाद सबसे पहले लगभग 40 किमी दूर स्थित बांध जलाशय से पानी छोड़ने का काम बंद कराया गया।

कांग्रेस ने मोदी सरकार को सुझाया पेट्रोल-डीजल के दाम घटाने का रास्ता

नहर का जलस्तर कम हुआ तो राहत एवं बचाव कार्य में तेजी लाई जा सकी। बस में मुख्य रूप से सीधी और सिंगरौली जिलों के यात्री सवार थे। यात्रियों में शामिल कुछ छात्र भी मौजूद थे, जो अपने अभिभावकों के साथ सतना जिले में आयोजित रेलवे और नर्सिंग की परीक्षा में शामिल होने जा रहे थे।

घटना की जानकारी मिलते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सड़क हादसे पर दुख व्यक्त किया। उन्होंने प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से बस दुर्घटना में मरने वालों के परिजनों को 2 लाख रुपये और गंभीर रूप से घायलों को 50,000 रुपये की अनुग्रह राशि देने की मंजूरी दी है।  वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सीधी बस दुर्घटना को लेकर बैठक की। उन्होंने कहा, 'हम सारे राहत के कामों की देखरेख के लिए कैबिनेट के दो मंत्री साथियों को वहां रवाना किया। साथ ही कहा इस दुखद घटना में हमारे जो भाई बहन नहीं रहे उनके परिवार को 5 लाख रुपए की तात्कालिक सहायता प्रदान की जाएगी। 

ये भी पढ़ें:

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.