Tuesday, Oct 04, 2022
-->
500 standard clubs to be formed in Delhi government schools

दिल्ली के सरकारी स्कूलों में बनेंगे 500 स्टैंडर्ड क्लब

  • Updated on 7/3/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली के सरकारी स्कूलों में भारतीय मानक व्यूरो के सुझाव पर स्टैंडर्ड क्लब खोले जाएंगे। इन स्टैंडर्ड क्लबों के जरिए गुणवत्ता पूर्ण उत्पादों के लिए उत्पाद जागरूकता बढ़ाई जाएगी।  इन स्टैंडर्ड क्लबों का का उद्देश्य छात्रों को गुणवत्ता और मानकीकरण के गुर सिखाना है। ताकि छात्र उत्पाद खरीद के समय जागरूक हों।

नर्सरी से लेकर 8वीं तक के छात्रों के लिए इस माह मनेगा हैप्पीनेस उत्सव

एक स्टैंडर्ड क्लब में स्कूल प्रमुख द्वारा नामित किया विज्ञान शिक्षक एक मेंटर के रूप में होगा। वहीं एक स्टैंडर्ड क्लब में कम से कम 15 छात्र सदस्य होंगे। मेंटर्स को उनकी भूमिका से अवगत कराने के लिए उन्हें 2 दिवसीय प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। हरेक स्टैंडर्ड क्लब में वर्ष में 3 गतिविधियां आयोजित करनी जरूरी होंगी।

एनआईओएस प्रभारी के तौर पर नियुक्त किए जाएंगे सेवानिवृत्त प्रधानाचार्य व उपप्रधानाचार्य

जिसके लिए बीआईएस प्रति गतिविधि 10 हजार रुपए की वित्तीय मदद स्कूल को मुहैया कराएगा। बीआईएस का मानना है कि वह 2022-23 तक 10000 स्टैंडर्ड क्लब बना सकेगा। इसमें 500 क्लब दिल्ली के स्कूलों में बनाए जाएंगे। मौजूदा समय में देशभर में 1265 स्टैंडर्ड क्लब संचालित किए जा रहे हैं। 

comments

.
.
.
.
.