Tuesday, Dec 07, 2021
-->
65 year old woman birth 8 babies in 14 months bihar scam sobhnt

बिहार में बड़ा घोटाला, पैसों के लिए कागजों में महिलाओं को किया Pregnant

  • Updated on 8/22/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पूरे देश में कोरोना वायरस (Corona virus) इस समय तेजी से फैल रहा है। जिसकी वजह से देश को सबसे ज्यादा मेडिकल सेवाओं की किल्लत से सामना करना पड़ रहा है। इसके पीछे एक कटू सत्य बजट का है। देश में केंद्र सरकार और राज्य सरकारों के पास स्वास्थ्य पर खर्च करन के लिए उतना पैसा नहीं है जितना होना चाहिए मगर ऐसे में मेडिकल घोटालों की खबर आ जाए तो वह और भी डरावना हो जाता है।  

बॉम्बे हाईकोर्ट की सख्त टिप्पणी, कहा- सौहार्द बिगाड़ने के लिए न हो सोशल मीडिया का इस्तेमाल

65 वर्षीय महिला ने दिया 8 बच्चों को जन्म
बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के मुशहरी प्रखंड से एक बड़े सरकारी घोटाले की खबर आ रही है। यहां कुछ सरकारी अधिकारियों ने नेशनल स्वास्थ्य मिशन (NHM) के तहत बच्चा होने पर मिलने वाली प्रोत्साहन राशि में गड़बड़ की गई है। इसमें दिखाया गया है कि एक 65 वर्षीय महिला ने पिछले 14 महीनों में 8 बच्चों को जन्म दिया है। जो कि संभव नहीं हो सकता ।

सामाजिक कार्यकर्ता ने PoK में हटाया पाकिस्तान का झंडा, मिल रहीं धमकियां

किया फर्जी खेल
बता दें एक समाचार पत्र ने अपनी रिपोर्ट में खुलासा किया है कि मुजफ्फर पुर के इस जिला अस्पताल में बच्चों का फर्जी जन्म प्रमाण  पत्र दिखाकर पैसे के गमन का खेल खेला गया है। इस महिला के खाते में 8 बार 1400 रुपए की प्रोत्साहन की राशि भी आई है। जिसे निकाला भी जा चुका है। जबकि अखबार ने जब उस महिला से इस मामले में बात की तो वह डर गई उसने कहा कि वह तो कई साल पहले मां बनी थी।

सामाजिक कार्यकर्ता ने PoK में हटाया पाकिस्तान का झंडा, मिल रहीं धमकियां

नेशनल हेल्थ मिशन में किया घपला

गौरतलब है कि नेशनल हेल्थ मिशन के तहत इसी तरह एक और महिला शांति देवी (Shanti devi) ने भी 9 महीनों में 5 बच्चियों का जन्म दिखाकर पैसा हड़पा गया है। डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट के आदेश पर इस मामले की हाई लेवल जांच शुरू हो चुकी है। एडीएम राजेश कुमार के नेतृत्व वाली जांच समिति ने पाया कि पहली नजर में घोटाले के आरोप सही हैं। विस्तृत जांच चल रही है। जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ विभागीय कार्यवाही होगी। 
 

यहां पढ़ें अन्य महत्वपूर्ण खबरें-

comments

.
.
.
.
.