Tuesday, Oct 04, 2022
-->
76th-independence-day-pm-modi-emphasizes-on-respect-for-women-power

76वें स्वतंत्रता दिवस : पीएम मोदी ने नारी शक्ति के सम्मान पर दिया जोर 

  • Updated on 8/15/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 76वें स्वतंत्रता दिवस पर कहा कि आज जब देश ‘अमृत काल’ में प्रवेश कर रहा है, तो भ्रष्टाचार और परिवारवाद दो ऐसी खास चुनौतियां हैं, जो राजनीति तक ही सीमित नहीं हैं। उन्होंने देशवासियों से इन विकृतियों से नफरत करने और अगले 25 वर्षों में ‘विकसित भारत’ सुनिश्चित करने के लिए ‘पंच प्रण’ लेने का आह्वान किया। 

विविधता को समेटने के लिए भारत की सराहना करती है दुनिया : भागवत 

प्रधानमंत्री ने कहा कि देश अब 5 संकल्प लेकर आगे बढ़ेगा। आगामी 25 साल के लिए 5 संकल्प लेने होंगे। हमें आजादी के दीवानों के सपनों का संकल्प लेना होना। पहला - विकसित भारत दूसरा- गुलामी के हर अंश से मुक्ति का प्रण करना होगा। वहीं तीसरा विरासत पर भी गर्व करना होगा। चौथे एकता और एकजुटता का प्रण भी लेना होगा। पांचवां नागरिकों को अपने कर्तव्यपालन का प्रण लेना होगा। 

भारत दुनिया में पहले पायदान पर आ सकता है, एकजुट होना पड़ेगा :केजरीवाल

पीएम मोदी ने नौवीं बार लाल किले की प्राचीर से देश के संबोधित किया। इस मौके पर उन्होंने तिरंगे लगे सफ़ेद रंग का साफा पहना। 76वें स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री ने 83 मिनट तक देश को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा कि विश्व का भारत को देखने का नजरिया बदल चुका है। दुनिया की सोच में ये बदलाव 75 साल की हमारी अनुभव यात्रा का परिणाम है। 

कांग्रेस बोली- देश को 'झूठ के गठरी' कल्चर से मुक्त कराना है 

पीएम ने नारी शक्ति के सम्मान की बात भी कही, पीएम ने कहा कि नारी के अपमान से मुक्ति का संकल्प लें। भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद पर हमला बोलते हुए एक नया नारा भी दिया है।

comments

.
.
.
.
.