Monday, Jan 21, 2019

डाकघरों में जमा 9,395 करोड़ रुपए लावारिस, नहीं कोई दावेदार

  • Updated on 1/8/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देशभर में विभिन्न डाकघरों के बचत खातों में 9,395 करोड़ रुपए की रकम दावा रहित (लावारिस) पड़ी है। सर्वाधिक 2,429 करोड़ रुपए की राशि किसान विकास पत्र में लावारिस पड़ी है। इसके बाद मंथली इन्कम स्कीम में 2,056 करोड़ रुपए लावारिस पड़े हैं। इसी तरह एन.एस.सी. में भी 1,888 करोड़ रुपए का दावा करने वाला कोई नहीं है।

गीता गोपीनाथ बनी मुद्राकोष की मुख्य अर्थशास्त्री का पद संभालने वाली पहली महिला

सबसे बड़ी बात यह है कि लावारिस पड़ी लगभग आधी रकम पश्चिम बंगाल, दिल्ली, पंजाब और उत्तर प्रदेश के डाकघरों में जमा हैं। इससे पहले भारतीय जीवन बीमा निगम (एल.आई.सी.) के खातों में भारी मात्रा में रकम दावा रहित होने की बात सामने आई थी।

PM मोदी और ट्रंप ने की देर तक फोन पर बातचीत, इन खास मुद्दों पर हुई चर्चा

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक 31 मार्च, 2018 को दावा रहित (लावारिस) कुल रकम 15,166.47 करोड़ रुपए थी। ऐसी कम्पनियों की सूची में सार्वजनिक क्षेत्र की कम्पनी जीवन बीमा निगम शीर्ष पर है जिसके पास कुल 10,509 करोड़ रुपए का कोई दावेदार नहीं है जबकि निजी कम्पनियों के पास ऐसी रकम 4,657.45 करोड़ रुपए है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.