Friday, May 20, 2022
-->
aam-aadmi-party-taunts-yogi-bjp-government-over-mirzapur-2-rkdsnt

मिर्जापुर 2 को लेकर आम आदमी पार्टी ने किया योगी सरकार पर तंज

  • Updated on 10/22/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। वेबसीरीज मिर्जापुर 2 आज मध्य रात्रि 12 बजे स्ट्रीम होने जा रहा है। इसको लेकर आम दर्शकों के साथ सियासी लहर भी हिलोरे मारने लगी है। आम आदमी पार्टी ने इसको लेकर ट्वीट किया है। अपने ट्वीट में पार्टी लिखती है, 'क्या आप मिर्जापुर 2 को लेकर उत्साहित है या आप लोग यूपी में आदित्यनाथ शासन में रह रहे हैं?

'कंगना रनौत के खिलाफ आपराधिक शिकायत दर्ज, कोर्ट के बारे किया था ट्वीट

इशारों-इशारों में उसके योगी सरकार पर तंज कसने की कोशिश की है। मिर्जापुर 2 अपराध की दुनिया से भरे किरदारों से भरपूर है। आप ने यूपी में बढ़ते अपराधों के मद्देजनर यह ट्वीट भी किया है। दर्शकों में भौकाल मचाने जा रही है यह वेब सीरीज। इस बार अमेजन प्राइम ने एक वॉच पार्टी का भी इंतजाम भी किया है, जिसमें मिर्ज़ापुर के फैंस दूसरे सीजन का लुत्फ उठा सकेंगे। 

योगीराज में ‘अत्याचार’ के खिलाफ आप का प्रदर्शन 
आम आदमी पार्टी (आप) के कार्यकर्ताओं ने उत्तर प्रदेश में दलितों पर कथित रूप से हो रहे जुल्म के विरोध में बृहस्पतिवार को राजधानी लखनऊ में प्रदर्शन किया।      लखनऊ के परिवर्तन चौक पर हुए इस प्रदर्शन के दौरान पार्टी नेताओं ने आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश की सरकार जाति के नाम पर राजनीति कर रही है। एक तरफ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कहते है ‘सबका साथ सबका विकास’, वहीं जब किसी दलित की बेटी पर कोई अत्याचार होता है तो योगी चुप्पी साध लेते हैं।     

बिहार में भाजपा का कोरोना वैक्सीन का चुनावी वादा, सोशल मीडिया पर उठे सवाल

पार्टी के एससी-एसटी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष महेश वाल्मीकि ने इस मौके पर कहा कि हाथरस की घटना में जिस बेशर्मी और बेरहमी के साथ सरकार बलात्कारियों को बचाने में लगी हुई, इससे देश के दलित समाज के मन में ये बात पैदा कर उनके उस विश्वास को और मजबूर कर दिया कि भाजपा और योगी के राज में दलितों का सम्मान नहीं है। 

वीडियोकॉन दिवाला मामला: धूत परिवार ने की कर्जदाताओं को 30,000 करोड़ रुपये की पेशकश

उन्होंने कहा कि योगी सरकार से न्याय की उम्मीद खो चुके गाजियाबाद जिले के करहेड़ा गांव में वाल्मीकि समाज के लगभग 250 लोगों ने हिंदू धर्म त्याग कर बौद्ध धर्म अपना लिया। उन्होंने यह कदम उस दु:ख और पीड़ा के चलते उठाया कि हाथरस जैसी घटना में उनके समाज का मानमर्दन किया गया। इस दौरान पार्टी के प्रदेश सह प्रभारी नदीम अशरफ जायसी ने कहा कि उत्तर-प्रदेश की योगी सरकार दलित विरोधी है। 

योगी सरकार के राज में दलितों की आवाज को दबाया जा रहा है, उनके अधिकारों को कुचला जा रहा है। जिसकी वजह से दलित बेटियों को न्याय नहीं मिल रहा है। उन्होंने कहा कि आकाादी के बाद पहली बार उत्तर प्रदेश में ऐसी सरकार देखी है जो अपनी जातिवादी राजनीति की वजह से पिछड़ों, दलितों, अल्पसंख्यों और ब्राह्मणों का विश्वास खो बैठी है। प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिये पुलिस ने बल प्रयोग किया और कई कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी भी की गई।  

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.