Tuesday, Apr 13, 2021
-->
aap-delhi-govt-door-step-ration-scheme-start-from-circle-63-without-name-rkdsnt

केजरीवाल सरकार बिना नाम के शुरू करेगी डोर स्टेप राशन योजना

  • Updated on 4/8/2021


नई दिल्ली, 8 अप्रैल (अनामिका सिंह): केंद्र द्वारा दिल्ली सरकार की ‘मुख्यमंत्री घर-घर राशन योजना’ के नाम पर विरोध करने के बाद अब दिल्ली सरकार द्वारा इसे बिना किसी नाम से अप्रैल में ही सर्किल 63 सीमापुरी में पायलेट प्रोजेक्ट के तहत शुरू किया जा रहा है। इस योजना को शुरू करने के लिए खाद्य एवं आपूर्ति विभाग द्वारा आदेश भी जारी कर दिया गया है, बुधवार को जारी किए गए आदेश में कहा गया है कि सीमापुरी सर्किल में डोर स्टेप डिलीवरी के साथ ही इस सर्किल की सरकारी राशन की दुकानों से भी खाद्यान्न ई-पोज मशीनों के द्वारा वितरित किया जाएगा।

केजरीवाल ने की झुग्गी वासियों के लिए फ्लैट निर्माण की समीक्षा


विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि इस योजना पर सिर्फ केंद्र को नाम से एतराज था, जिसे हटा दिया गया है। इस योजना को 20 फरवरी को अधिसूचित किया गया था और योजना को 25 अप्रैल से प्रारंभ किया जाना था, इसलिए दोबारा अधिसूचित करने की आवश्यकता नहीं है। उनका कहना था कि अब केंद्र को कोई आपत्ति नहीं होगी।

 लाइब्रेरी खोलने के मामले में जेएनयू छात्रों के खिलाफ नोटिस, आइसा ने उठाए सवाल

डोर स्टेप योजना में दिल्ली स्टेट सिविल सप्लाई कॉर्पोरेशन लिमिटेड के साथ मिलकर मिलर्स एफसीआई के गोदामों से गेंहू और चावल को उठाएंगे। गेंहू को पिसा जाएगा और आटे के पैकेट बनाए जाएंगे जबकि चावलों को साफ कर पैकिंग की जाएगी। जिसे डोर स्टेप डिलीवरी ब्वॉयज द्वारा घरों में पहुंचाया जाएगा। बता दें कि इस पायलेट प्रोजेक्ट के दौरान इस योजना से करीब पीआर केटेगरी के करीब 23668 राशनकार्डधारी, पीआरएस के 4915 व एएवाई के 1509 राशनकार्डधारी लाभ ले पाएंगे।

लालकिला हिंसा में आरोपी दीप सिद्धू ने अदालत में दी सफाई

वहीं सीमापुरी सर्किल की कुल 43 राशन की दुकानों से ई-पोज के जरिए राशन वितरित किया जाएगा। जिसमें पोर्टेबिलिटी के द्वारा राशनकार्डधारी अपने नजदीकी राशन की दुकान से राशन प्राप्त कर पाएंगे। विभागीय अधिकारियों का कहना है कि डोर स्टेप डिलीवरी योजना वैकल्पिक है, राशनकार्डधारी खुद तय करेंगे कि उन्हें डोर स्टेप से राशन लेना है या फिर राशन की दुकानों से।

आपात स्थिति में राशन दुकानदारों ने दिया साथ: डीएसआरडीएस
दिल्ली सरकारी राशन डीलर्स संघ (डीएसआरडीएस) के सचिव सौरभ गुप्ता ने कहा कि आपात स्थितियों में राशन दुकानदारों ने विभाग व सरकार का साथ दिया है। लॉकडाउन से ही बिना अवकाश लिए कोटाधारक राशन बांट रहे हैं। डोर स्टेप डिलीवरी योजना को लेकर कोटाधारकों को अपना रोजगार सुनिश्चित नजर नहीं आ रहा है, सभी असमंजस की स्थिति में है। वहीं योजना को लेकर अभी भी स्थितियां पारदर्शी नहीं है।

सुप्रीम कोर्ट ने CBI जांच के खिलाफ देशमुख, महाराष्ट्र सरकार की अपील को किया खारिज

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

 

  •  
Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.