Thursday, Feb 27, 2020
aap is seen making government in the satta bazar

सट्टा बाजार में सरकार बनाती दिख रही है AAP, कांग्रेस की स्थिति जस की तस

  • Updated on 2/7/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली चुनावी दंगल में आप-भाजपा अपनी सरकार बनाने का दावा कर रहें हो, लेकिन सट्टा बाजार में सटोरियों के मुताबिक केवल आप पार्टी (AAP) की ही सरकार बनती दिख रही है। बाजार में सटोरिए ज्यादा दांव खेलें इसलिए नए भाव के तहत आप को सेशन में लगा दिया गया है, वहीं भाजपा (BJP) का भाव भी बाजार में बढ़ गया है।

सटोरियों के मुताबिक क्योंकि मतदान में कुछ ही समय बाकी है इसलिए ऐसा किया गया है ताकि बाजार में ज्यादा से ज्यादा दांव लग सके। कुछ घंटों में खेले बाजार के तहत भाजपा की बढ़ी सीटों पर ज्यादा तो आप की घटी सीटों पर ज्यादा दांव खेला जा रहा है। 

पीएम मोदी के असम दौरे से होगी शांति और प्रगति के नए युग की शुरुआत- हर्षवर्धन

क्या कहता है सट्टा बाजार
फलौदी समेत दिल्ली के सट्टा बाजार (Satta Bazar) के मुताबिक नए भाव के तहत आप का भाव 57:58 का लगाया गया है वहीं भाजपा का भाव 11:13 कर दिया गया है। यानि की अगर आप पर दांव लगाते हैंतो उसके तहत अगर आप की 58 या उससे ज्यादा सीटें आती हैं तो 58 को यस बोलने वाला जीतेगा और अगर 57 का भाव लगाया है या उससे नीचे तो उस पर दांव लगाने वाला जीतेगा। यही नहीं अगर सटीक 57:58 पर दांव लगाया जाता है तो इसके बदले में आपको रकम पर कुछ और हिस्सा भी दिया जाएगा। इसी तरह भाजपा (BJP) पर दांव लगाया गया है। 

आप पर दांव अब कम, बीजेपी पर सटोरियों की नजर
बीते 24 घंटों में आप लगातार फेवरेट थी, इसलिए आप पर अब सटोरिए ज्यादा दांव नहीं खेल रहे हैं। बाजार की रिपोर्ट के मुताबिक बीते 24 घंटों में सबसे ज्यादा दांव भाजपा पर लगाया गया है। सटोरियों के मुताबिक इस बार दांव जो लगा है वो लगाया 11 के बदले 13 से ज्यादा सीटों पर। यानि की सटोरिए की नजर में भाजपा की सीटें बढ़ सकती हैं। यही नहीं मौजूदा समय को देखते हुए भाजपा की सीटें 11 से कम नहीं आएंगी। 

जामिया प्रदर्शन: पुलिस ने छात्रों से की अपील, चुनाव के मद्देनजर गेट नं. 7 को खाली रखेंगे छात्र

ऐसे चलता है सट्टा बाजार
फेवरेट: जिस भी तरफ भाव एकाएक लगातार बढ़ता जाता है, तो सेशन की जगह फेवरेट कर दिया जाता है, यानि की अब दांव लगने पर कुछ ही पैसे मिलते हैं और हार की सूरत में पूरा पैसा चला जाता है। ऐसे में सट्टा लगाने वाले को फायदा कम होता है और नुकसान होता है।

सेशन: इसके तहत आज का भाव 57:58 खोला गया है। यानि की अंतर बेहद कम हो गया है। इसके तहत 58 सीटें ‘आप’ की बाजार के तहत आ सकती हैं, जबकि मौजूदा समय में सटोरियों ने अब 57 से कम सीटों पर भाव ज्यादा लगाना शुरू कर दिया है। इसी तरह भाजपा (BJP) का नया भाव 11:13 का है, इसमें इस बार सटोरियों ने 13 से अधिक का भाव खेला है। 

प्रचार खत्म होने के बाद AAP की तैयारी- शराब, पैसा बांटने वालों पर रहेगी नजर

भाव: किसी भी पार्टी पर भाव खुलता है तो उस पर लगा दाव एक सीमा पर रोका जाता  है। भाव बाजार तय करता है, और उस पर लगे पैसे पर दिए गए भाव के तहत जीतने वाले को पैसा मिलता है। 

कांग्रेस का भाव 1:5 का है, यानि की बाजार में अभी भी कांग्रेस (Congress) की हालत ठीक नहीं है। कांग्रेस को अभी भी सटोरिए 1 सीट से ज्यादा नहीं दे रहे हैं। लगे भाव के तहत अधिकांश लोग 5 सीटों से कम पर ही उस पर दांव खेल रहे हैं। 

comments

.
.
.
.
.