Sunday, Jun 13, 2021
-->
aap-kejriwal-govt-started-vaccinations-for-people-above-18-years-of-age-in-delhi-rkdsnt

केजरीवाल सरकार ने शुरू किया 18 साल से अधिक आयु के लोगों के लिए टीकाकरण

  • Updated on 5/3/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 टीकाकरण मुहिम का तीसरा एवं सबसे बड़ा चरण सोमवार सुबह शुरू हो गया, जिसके तहत 18 साल से 45 साल तक के आयुवर्ग के लोगों को टीका लगाया जाएगा। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया कि शहर के 76 स्कूलों में 301 केंद्र बनाए गए हैं। उन्होंने वेस्ट विनोद नगर में टीकाकरण केंद्र का दौरा किया। 

भाजपा को लेकर प्रशांत किशोर का अनुमान सटीक बैठा, बावजूद इसके चुनावी रणनीतिकार का रोल छोड़ेंगे

सिसोदिया ने ट्वीट किया, ‘‘दिल्ली में युवाओं का टीकाकरण शुरू हो गया है। हमने 76 स्कूलों में 301 केंद्र बनाए हैं। हमारा लक्ष्य 300 स्कूलों में इस प्रकार के 3,000 केंद्र बनाना है, जो टीकों की उपलब्धता पर निर्भर करेगा।’’ दिल्ली में करीब 90 लाख लोग इस चरण में टीकाकरण के लिए पात्र हैं। 

पश्चिम बंगाल में पीएम मोदी, केंद्रीय मंत्रियों के प्रचार के बावजूद ममता जीतीं : उद्धव ठाकरे 

 

एक अधिकारी ने बताया कि सरकार ने अधिक से अधिक लोगों के टीकाकरण के लिए स्कूलों को टीकाकरण केंद्र बनाया है। राष्ट्रीय राजधानी के करीब 500 केंद्रों में अभी तक 45 साल से अधिक आयु के लोगों को टीका लगाया जा रहा था। अधिकारी ने बताया कि 18 वर्ष से 45 वर्ष तक के आयुवर्ग में टीकाकरण के लिए पहले से पंजीकरण कराना अनिवार्य है। 

शहर के मैक्स अस्पताल ने 18 से 45 वर्ष के आयुवर्ग के लिए टीकाकरण शनिवार से ही सीमित केद्रों में शुरू कर दिया था और फोर्टिंस हेल्थकेयर ने रविवार से टीकाकरण शुरू किया। दिल्ली सरकार ने टीकों की 1.34 करोड़ खुराक का ऑर्डर दिया था, जो आगामी तीन महीनों में मिलेगा। इनमें से कोविशील्ड टीके की 67 लाख खुराक पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया से खरीदी गई हैं। 

चुनाव परिणाम : केरल में लेफ्ट, असम और पुडुचेरी में भाजपा की जीत 

अधिकारियों ने पहले बताया था कि तीन लाख खुराक की पहली खेप मई के पहले सप्ताह में दिल्ली पहुंचेगी। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बृहस्पतिवार को कहा था कि अगले तीन महीनों के अंदर सभी वयस्कों को कोरोना वायरस के टीके लगाने के लिए एक योजना तैयार की गयी है।     

comments

.
.
.
.
.