Monday, Aug 02, 2021
-->
aap mp sanjay singh accuses champat rai of ram janmabhoomi trust of scam rkdsnt

AAP सांसद ने राम जन्म भूमि ट्रस्ट के चंपत राय पर लगाया घोटाले का आरोप

  • Updated on 6/13/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। अयोध्या के राम मंदिर निर्माण में जुटी ट्रस्ट पर आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने जमीन खरीद में घोटाले का आरोप लगाया है। संजय सिंह ने कहा है  कि भगवान श्री राम जिनके प्रति करोड़ों लोगों की आस्था है, जिनके नाम पर गरीब किसान से लेकर फैक्ट्री मजदूर तक सभी ने प्रभु श्री राम का मंदिर बनाने के लिए चंदा दिया है, कोई नहीं जानता था, जिस ट्रस्ट में चंदा दे रहे हैं, उसमें भी घोटाला और भ्रष्टाचार कर लिया जाएगा।

राशन योजना पर सिसोदिया बोले- लोगों ने BJP को चुना है न कि ‘भारतीय झगड़ा पार्टी’ को

आप सांसद ने कहा कि कोई कल्पना भी नहीं कर सकता की मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम के नाम पर भी कोई घोटाला करने की हिम्मत करेगा लेकिन, राम जन्म भूमि ट्रस्ट के नाम पर करोड़ों रुपए चंपत राय जी ने चंपत कर दिया है। 

उन्होंने कहा, 'ये  money laundering का मामला है, भारी भ्रष्टाचार का मामला है। मैं मांग करता हूँ  देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से कि तत्काल ED और CBI के जरिए इस मामले की गहन जांच कराकर जो भी दोषी हो उसको जेल में डालने का काम करें।'

देश के सबसे बड़े क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज को फेमा उल्लंघन के लिए ED का नोटिस

सिंह ने आगे कहा, 'एक अजीबोगरीब बात और है, जो जमीन रवि मोहन तिवारी ने हरीश पाठक जी से खरीदी उसका स्टांप तो 5 बजकर 22 मिनट पर खरीदा गया, लेकिन जो एग्रीमेंट साढे़ 18 करोड़ रुपये का हुआ, उसका स्टांप 5 बजकर 11मिनट पर ही खरीद लिया गया। यानी ट्रस्ट ने पहले से ही स्टांप खरीद लिया।'

उन्होंने कहा, 'मैं पूछना चाहता हूँ जो जमीन दो करोड़ रुपए में खरीदी गई, वही जमीन ठीक 5 मिनट बाद साढे़ 18 करोड़ रुपये में कैसे खरीद ली गई? मैं समझता हूँ आज उन करोड़ों भक्तों को गहरी ठेस लगी होगी जिन लोगों ने प्रभु श्री राम के नाम पर बने ट्रस्ट पर भरोसा करके करोड़ों रुपए का चंदा दिया लेकिन प्रभु श्री राम के नाम पर उस ट्रस्ट के पदाधिकारी करोड़ों रुपए की हेराफेरी कर रहे हैं।- 

हैरानी है कि परमबीर सिंह को अब राज्य पुलिस पर भरोसा नहीं है : सुप्रीम कोर्ट

संजय सिंह ने कहा कि ट्रस्ट के मेंबर अनिल मिश्रा , जो बयनामा कराने में गवाह थे, वही अनिल मिश्रा इस जमीन को ट्रस्ट के नाम पर खरीदने में भी गवाह बन गए और मेयर महोदय ऋषिकेश उपाध्याय जो जमीन बयनामा कराने में गवाह थे, वहीं मेयर महोदय ट्रस्ट के नाम पर खरीदने में भी गवाह बन गए। 

उन्होंने आरोप लगया कि लगभग साढे़ 5 लाख रुपये प्रति सेकंड की दर से जमीन का दाम बढ़ गया, पूरी दुनिया में कहीं भी एक सेकंड में जमीन इतनी महंगी नहीं हुई होगी, लेकिन राम जन्मभूमि के नाम पर बने ट्रस्ट में 1 सेकंड में साढे़ 5 लाख रुपये मंहगी करके जमीन खरीदी गई ।' 

पायलट नाराज नहीं, कैबिनेट और सरकार के भीतर खाली पद जल्द भरे जाएंगे: माकन

 

comments

.
.
.
.
.