Friday, May 14, 2021
-->
aap mp sanjay singh suddenly arrives in up assembly attack yogi bjp government rkdsnt

योगी सरकार पर हमलावर AAP सांसद संजय सिंह अचानक पहुंचे यूपी विधानसभा में

  • Updated on 8/20/2020


नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कानून व्यवस्था तथा कई अन्य मुद्दों को लेकर इन दिनों उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर हमलावर आम आदमी पार्टी (आप) के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह (Sanjay Singh) बृहस्पतिवार को अचानक राज्य विधानसभा पहुंचे। विधानमंडल के मानसून सत्र के पहले दिन सिंह अचानक विधान भवन पहुंचे। गेट पर तैनात सुरक्षार्किमयों ने थर्मल स्कैङ्क्षनग करने के बाद उन्हें अंदर जाने दिया। 

ज्यादातर मुस्लिम परिवारों में आज भी मना है डांस सीखना : नसीरुद्दीन शाह

बाद में सिंह विधानसभा की राज्यपाल दीर्घा में बैठकर सदन की कार्यवाही देखने लगे। इस बारे में जानकारी मिलने पर वहां हड़कंप मच गया। सिंह ने बताया कि प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने राज्य में ब्राह्मणों तथा अन्य जातियों पर हो रहे अत्याचार का मुद्दा उठाते हुए एक जाति विशेष के लिए काम करने का आरोप लगाने पर उनके खिलाफ नौ मामले दर्ज किए हैं। वह विधानसभा के अंदर इसलिए गए थे कि अगर सरकार उन्हें गिरफ्तार करना चाहती है तो कर ले। मगर सरकार ऐसा करने की हिम्मत नहीं जुटा सकी।  

फिरोजाबाद में आग के हवाले किए गए कारोबारी की मौत, विपक्ष ने साधा योगी सरकार पर निशाना

आप की उत्तर प्रदेश इकाई के प्रभारी संजय सिंह इन दिनों कानून व्यवस्था और कोरोना वायरस संकट को लेकर राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार पर खासे हमलावर हैं। उन पर एक जाति विशेष के खिलाफ टिप्पणी कर वैमनस्य फैलाने के आरोप में राजधानी लखनऊ समेत कई जिलों में लगभग नौ मामले दर्ज किए जा चुके हैं। ऐसे में सिंह का अचानक विधानसभा पहुंचना खासा चर्चा का विषय बना हुआ है। 

सुशांत परिवार के वकील ने कहा- CBI की राह भी नहीं होगी आसान

विधानसभा के प्रमुख सचिव प्रदीप दुबे ने इस बारे में पूछे जाने पर बताया कि विधानसभा की नियमावली में है कि कोई भी संसद सदस्य या केंद्रीय मंत्री विधानसभा की कार्यवाही देखने के लिए आ सकते हैं। अगर उनके खिलाफ कोई मसला है तो वह सचिवालय सुरक्षा प्रशासन से संबंधित मामला है लेकिन अगर वह परिसर में एक बार आ गए तो नियमावली के प्रावधान लागू होते हैं। हम उन्हें नहीं रोक सकते। 

हरिद्वार को ट्रिप फ्री सिटी बनाने की तैयारी , कुंभ से पहले होगी घोषणा

उन्होंने कहा कि सांसद और केंद्रीय मंत्री राज्यपाल दीर्घा से ही बैठ कर कार्यवाही देखते हैं, लिहाजा यह कोई मुद्दा नहीं है और इसे तूल नहीं दिया जाना चाहिए। कई मामले दर्ज होने के बावजूद संजय सिंह को विधानसभा के अंदर कैसे जाने दिया गया, इस सवाल पर विधानसभा के मुख्य सुरक्षा अधिकारी मनीष चंद्र रॉय ने कहा कि वह इस बारे में कुछ भी बताने के लिए अधिकृत नहीं हैं। 

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

प्रशांत भूषण केस में SC का फैसला संवैधानिक लोकतंत्र को कमजोर करने वाला : येचुरी

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.