Thursday, Jan 27, 2022
-->
aap sanjay singh says bjp modi govt economy package those who looted npa crores rkdsnt

AAP सांसद बोले- आर्थिक पैकेज से एक बात तो साफ हो गई कि...

  • Updated on 5/13/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कोरोना संकट को देखते हुए केंद्र की मोदी सरकार ने 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज का ऐलान किया है। इसको लेकर आज केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पहली प्रेस वार्ता में कई बातों का खुलासा किया। इसमें औद्योगिक क्षेत्र के कई बड़े ऐलान किए गए हैं, लेकिन गरीबों और मजदूरों के लिए सीधे कुछ फायदा होता दिखाई नहीं दे रहे हैं। इसको लेकर विपक्ष ने सवाल उठाने शुरू कर दिए हैं। 

शशि थरूर ने 'आत्मनिर्भर भारत मिशन' को बताया मेक इन इंडिया का न्यू वर्जन

सीतारमण की PC के बाद अनुराग कश्यप ने पूछा- उधार और Relief-Package में क्या फर्क है ?

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम से लेकर पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा को भी आर्थिक पैकेज से घोर निराशा हुई है। दोनों ने कड़ी प्रतिक्रियाएं दी है। इसके साथ ही दिल्ली में आम आदमी पार्टी ने भी आर्थिक पैकेज पर सवाल उठाए हैं और उसे अमीरों की झोली भरने वाला करार दिया है। आप सांसद संजय सिंह का कहना है कि सरकार ने एनपीए के नाम पर धन लूटने वाले बेईमानों को ही फायदा पहुंचाने का काम किया है, जबकि गरीब को भगवान भरोसे छोड़ दिया गया है। 

आर्थिक पैकेज पर सीतारमण की पहली प्रेस वार्ता पर चिदंबरम की कुछ ऐसी है प्रतिक्रिया

CM रुपानी को लेकर गुजराती न्यूज पोर्टल के संपादक पर गिरी गाज, प्रशांत भूषण हैरान

संजय सिंह का ट्वीट कुछ इस प्रकार है, 'आज के पैकेज से एक बात तो साफ हो गई की जिन बेईमानो ने देश का लाखों करोड़ रुपये NPA के नाम पर पहले से ही लूट रखा है उन्ही को फिर से सरकार ने लाखों करोड़ लूटने का इंतज़ाम कर दिया है गरीब के हाथ कुछ नही लगा उसे भगवान भरोसे छोड़ दिया गया।'

आर्थिक पैकेज पर निर्मला सीतारमण की पहली प्रेस कांफ्रेंस के ये हैं 10 खास बिंदु

दरअसल, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 20 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक पैकेज का सिलसिलेवार तरीके से ब्योरा पेश करना शुरू कर दिया है। पहले चरण में उन्होंने प्रमुख रूप से 6 क्षेत्रों के लिए राहत पैकेज के बारे में खुलासा किया है। हालांकि उन्होंने आर्थिक पैकेज के बारे में फिलहाल डेटा शेयर करने से इनकार किया है। उन्होंने कहा कि हमारे पास डेटा है, लेकिन हम इसके बारे में अभी नहीं बताएंगे। लेकिन सीतारमण ने कुटीर उद्योग, NBFC सेक्टर समेत उद्योगजगत पर ज्यादा फोकस किया।

पीएम मोदी के संबोधन से बेहद निराश दिखे वामदल नेता सीताराम येचुरी, 3 मुद्दे गिनाए

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.