Friday, May 14, 2021
-->
aap say bjp modi govt 25 lakh compensation affected families uttarakhand disaster rkdsnt

AAP बोली- उत्तराखंड आपदा के पीड़ित परिवारों को 25-25 लाख रुपए मुआवजा दे मोदी सरकार

  • Updated on 2/11/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता एंव राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने आज राज्यसभा में शून्य काल के दौरान उत्तराखंड के चमोली में आई प्राकृतिक आपदा के संदर्भ में अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि चमोली में पीड़ित परिवारों को केंद्र और राज्य सरकार ने केवल 2-2 लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा की है, जो अपर्याप्त है। उन्होंने केंद्र और राज्य सरकार से पीड़ित परिवारों को कम से कम 25-25 लाख रुपए मुआवजा देने की मांग की। उन्होंने कहा कि प्राकृति आपदा में अभी भी 173 लोग लापता हैं, इन लोगों के बचाव कार्य में और तेजी लाने की आवश्यकता है। इस प्राकृतिक आपदा की वजह से जिन लोगों का नुकसान हुआ है, उसकी भरपाई के लिए भी केंद्र सरकार को योजना बनानी चाहिए।

आंदोलनकारी किसानों ने चार घंटे के लिए ‘रेल रोको’ अभियान का किया ऐलान

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा सदस्य संजय सिंह ने आज उत्तराखंड के चमोली में आई प्राकृतिक आपदा के संदर्भ में राज्यसभा में शून्य काल के दौरान अपना विचार रखा। उन्होंने राज्यसभा में अपना प्रस्तुत करने के लिए समय देने के लिए सभापति महोदय का धन्यवाद किया। सांसद संजय सिंह ने सबसे पहले चमोली में आई प्राकृतिक आपदा के दौरान मारे गए 34 लोगों के प्रति अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की। 

माकपा ने न्यूज पोर्टल के कार्यालय पर ED छापे को स्वतंत्र मीडिया पर हमला करार दिया 

इसके बाद उन्होंने कहा कि चमोली से खबरें आ रही हैं कि प्राकृतिक आपदा के दौरान जो लोग सुरंग में फंस गए हैं और अभी तक निकाले नहीं जा सके हैं, एनडीआरएफ के जवान बहुत परिश्रम करके, दिन रात मेहनत करके उनको बचाने का प्रयास कर रहे हैं। संजय सिंह ने कहा कि मैं आप के माध्यम से केंद्र सरकार से अनुरोध करना चाहता हूं कि इस प्राकृति आपदा में 173 लोग अभी भी लापता है, उन लोगों को बचाने के लिए अपने स्तर पर उसमें और भी तेजी लाने आवश्यकता है। उस पर केंद्र सरकार गंभीरता से ध्यान दे। 

पेट्रोल, डीजल की कीमतों में लगातार दूसरे दिन बढ़ोतरी, धर्मेंद्र प्रधान की सफाई

सांसद संजय सिंह केंद्र सरकार से अनुरोध किया कि प्राकृतिक आपदा से पीड़ित मृतक परिवारों को और घायल परिवारों को जो मुआवजे की राशि दी गई है, वह बहुत अपर्याप्त है। पीड़ित परिवारों को राज्य सरकार की ओर से 2 लाख रुपए और केंद्र सरकार की ओर से भी अब तक मुआवजा के तौर पर केवल 2 लाख रुपए देने की घोषणा की गई है। उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवारों के लिए यह राशि कम से कम 25 लाख रुपए होनी चाहिए। मुआवजा राशि में राज्य और केंद्र सरकार कितना-कितना सहयोग कर सकते हैं, यह भी देखने की आवश्यकता है। 

ओमप्रकाश राजभर बोले- राम मंदिर के नाम पर चुनाव के लिए चंदा जुटा रही है भाजपा 

संजय सिंह ने आगे कहा कि इस प्राकृतिक आपदा की वजह से जिन लोगों के मकान टूट गए हैं, जिनका नुकसान हुआ है, उसकी भरपाई के लिए भी सरकार योजना बनाए। अभी तक 13 गांवों से संपर्क टूटा हुआ है, इन गांव से संपर्क स्थापित नहीं हो पा रहा है। मैं आपके माध्यम से केंद्र सरकार से यह भी अनुरोध करना चाहूंगा हूं कि विकास और तरक्की निश्चित रूप से हमारे देश के लिए जरूरी है, लेकिन जो नदियों का प्रवाह रोक कर बांध बनाए जाते हैं, उसके कारण से भी यह आपदाएं आती हैं। इस मौके पर मैं प्रोफेसर जीडी अग्रवाल को श्रद्धांजलि देना चाहूंगा, जिन्होंने इस आपदा को रोकने के लिए लड़ाई लड़ी थी और अपनी शहादत दी थी।

सुरंग में फंसे लोगों को निकालने का अभियान पड़ा धीमा, अब तक 32 शव बरामद

 

 

 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

 

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.