Friday, Feb 28, 2020
aap worker celebrating in punjab and maharashtra

दिल्ली चुनावः रुझानों में बढ़त के बाद पंजाब से लेकर महाराष्ट्र तक AAP का जश्न जारी

  • Updated on 2/11/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election) को लेकर वोटों की गिनती जारी है, शुरुआती रुझानों में आम आदमी पार्टी (AAP) ने बहुमत का आंकड़ा पार कर लिया है। इस बीच दिल्ली से लेकर पंजाब और महाराष्ट्र तक जश्न मनाया जा रहा है। आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता रुझानों के नतीजे देख कर जोश में आ गए हैं। दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल तीसरी बार अपनी पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाने के लिए तैयार दिख रही है।

दिल्ली चुनाव: CM अरविंद केजरीवाल 14 फरवरी को मानते हैं बेहद खास, जानें क्या है कारण

2015 का टूटेगा रिकॉर्ड- AAP
आम आदमी पार्टी कह रही है कि 2015 का रिकॉर्ड वह तोड़ने जा रही है। यानी कुल 70 में से 67 से अधिक सीटें जीतने का दावा कर रही हैं आप। इस दावे में कितना दम है, यह भी आज साफ होगा। अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal)  ने मुफ्त बिजली- पानी और महिलाओं के लिए फ्री बस यात्रा देकर अपनी सत्ता की वॉल यानी दीवार कितनी मजबूत बनाई, उसे विरोधी तोड़ पाएंगे या नहीं, इसका पता भी चल जाएगा। यह भी सामने आएगा कि 2015 की तरह कांग्रेस शून्य पर ही रह जाती है या फिर कुछ सीटों पर उसे भी जीत मिलती है।  

दिल्ली चुनाव: परिणाम से पहले ही कांग्रेस उम्मीदवार ने मानी हार, कही ये बात

एग्जिट पोल में बीजेपी को केवल 2 सीटें
बता दें कि अधिकांश एग्जिट पोल ने बीजेपी को 2 अंकों में सीटें दी हैं। आज तक/इंडिया टुडे- एक्सिस के एग्जिट पोल के अनुसार आप को 59- 68 और भाजपा को 2-11 सीट मिल सकती हैं। वहीं, एबीपी- सी वोटर के अनुसार आप को 49-63 और भाजपा को 5- 19 सीट मिल सकती हैं।

AAP कार्यालय में बजने लगे नगाड़े, CM आवास पहुंचा 'नन्हा केजरीवाल'

टाइम्स नाउ- इस्पोस के एग्जिट पोल में भी AAP सरकार
टाइम्स नाउ- इस्पोस के अनुसार केजरीवाल की कुर्सी बरकरार रह सकती है और आप को 47 तथा भाजपा को 23 सीट मिल सकती हैं। रिपब्लिक-जन की बात के एग्जिट पोल के अनुसार आप को 48-61 और भाजपा को 9-21 सीट मिलने के आसार हैं। टीवी 9 भारतवर्ष-सिसेरो के अनुसार आप को 52-64 और भाजपा को 6-16 सीट मिल सकती हैं। दिल्ली की सत्ता में कौन काबिज होने वाला है ये 11 फरवरी को तनीजे आने के बाद साफ हो जाएगा।

comments

.
.
.
.
.