Friday, May 20, 2022
-->
according-to-lancet-study-world-population-will-decline-prsgnt

दुनिया में होंगे आबादी, सत्ता, वर्चस्व, अर्थव्यवस्था से जुड़े कई बड़े बदलाव, ऐसे हुआ खुलासा

  • Updated on 7/16/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दुनिया की आबादी 7.8 अरब है और साल 2064 तक यह बढ़ कर रिकॉर्ड 9.7 अरब हो जाएगी। लेकिन फिर बड़ा बदलाव होगा और ये आबादी कम होने लगेगी। अनुमान है कि साल 2100 तक दुनिया की आबादी घटते हुए 8.8 अरब हो जाएगी।

संयुक्त राष्ट्र ने 2019 में एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी, जिसके अनुसार साल 2100 तक आबादी के 10.9 अरब होने का अनुमान था लेकिन इस रिपोर्ट को यूनिवर्सिटी ऑफ वॉशिंगटन की नई रिपोर्ट में रिसर्चरों ने गलत बताया है।

चीन के साथ सीमा विवाद पर सेना का बयान, यथास्थिति बहाल करने के पक्ष में दोनों देश

जनसंख्या होगी कम
यूनिवर्सिटी ऑफ वॉशिंगटन के शोधकर्ताओं की माने तो साल 2100 तक 195 में से 183 देशों की जनसंख्या कम हो जाएगी। वहीँ, 23 देशों की आबादी आधी हो जाएगी और 34 दूसरे देशों की जनसंख्या 25 से 50% तक कम हो जाएगी।

साइंस जर्नल लैंसेट में पब्लिश हुई एक रिपोर्ट के अनुसार, संयुक्त राष्ट्र ने अपने आंकलन में कम होती प्रजनन दर और बढ़ती बुजुर्गों की आबादी को ध्यान में जरूर रखा लेकिन नीतियों से जुड़े कुछ दूसरे पैमानों पर ध्यान नहीं दिया। जबकि शोध कहता है कि अगर एक बार आबादी कम होने लगे तो उसे रोकना नामुमकिन हो जाता है।

ईरान में चाबहार रेलवे प्रोजेक्ट से बाहर नहीं हुआ भारत, मोंताजिर ने दी सफाई

सत्ता में होगा बदलाव
अगर ऐसा होता है तो दुनिया में सत्ता के लिहाज से बड़े बदलाव भी देखने को मिलेंगे। शोध में 23 देशों की जनसंख्या आधी हो जाने की बात कही गई है, जिसमें जापान, स्पेन, इटली, थाईलैंड, पुर्तगाल, दक्षिण कोरिया और पोलैंड शामिल हैं।

दुनिया की इस मशहूर यूनिवर्सिटी में चल रहा था रेप स्कैंडल, सामने आए कई बड़े नाम

चीन की बढ़ेगी पॉवर
इस शोध में ये भी सामने आया है कि साल 2035 तक चीन दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा और फिर अमेरिका पीछे छूट जाएगा। लेकिन चीन की जनसंख्या जब कम होने लगेगी उसके बाद फिर अमेरिका अपनी जगह हासिल करने में कामयाब रहेगा।

मौजूदा समय में चीन की जनसंख्या 1.4 अरब है। जो अगले 80 सालों में 73 करोड़ रह जाएगी। इसी बीच अफ्रीकी देशों में जनसंख्या बढ़ेगी और उप सहारा अफ्रीका में आबादी तीन गुना बढ़ कर तीन अरब हो सकती है। जबकि अकेले नाइजीरिया में ही आबादी 80 करोड़ हो जाएगी।

टिक टॉक पर सख्त कदम उठाएगा अमेरिका, White House अगले कुछ हफ्तों में कर सकता है ऐलान

भारत की जीडीपी चमकेगी
अगर इस शोध की माने तो साल 2100 तक नाइजीरिया भारत के बाद आबादी में दूसरे स्थान पर होगा। जबकि सत्ता और अर्थव्यवस्था के हिसाब से अमेरिका, चीन, नाइजीरिया और भारत दुनिया के चार अहम देश होंगे।

अनुमान है कि भारत की आबादी में कोई खास बदलाव नहीं आएगा लेकिन जीडीपी के हिसाब से भारत तीसरे पायदान पर होगा। जबकि दुनिया की 10 महत्वपूर्ण अर्थव्यवस्थाओं में जापान, जर्मनी, फ्रांस और ब्रिटेन बने रहेंगे।

comments

.
.
.
.
.