Wednesday, Feb 19, 2020
accused amirkhan approached delhihighcourt challenging charges against him unnaorapecase

उन्नाव कांड: पीड़िता के पिता की मौत के आरोप में आमिर खान ने खटखटाया दिल्ली HC का दरवाजा

  • Updated on 8/21/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिल। उन्नाव रेप पीड़िता (Unnao Rape Victim) के पिता की पुलिस कस्टडी (Police Custody) में हुई मौत के मामले में आरोपी बनाए गए उत्तर प्रदेश पुलिस के कांस्टेबल आमिर खान (Amir Khan) ने दिल्ली हाई कोर्ट (Delhi High Court) का दरवाजा खटखटाया है। आमिर खान ने अपने ऊपर लगाए गए आरोपों को दिल्ली हाई कोर्ट में चुनौती देने का फैसला किया है।

बता दें कि 4 जून, 2017 को बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर रेप का आरोप लगाया गया, लेकिन पुलिस ने विधायक के खिलाफ कोई केस दर्ज नहीं किया। 8 अप्रैल, 2018 में उसी शिकायत करने वाली लड़की के पिता के खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज कर उनको तुरंत गिरफ्तार कर लिया। ठीक एक दिन बाद पुलिस की पिटाई की वजह से कस्टडी में ही पीड़िता के पिता की मौत हो गई।  

उन्नाव कांड: सड़क दुर्घटना मामले की जांच के लिए CBI को मिली मोहलत

सड़क दुर्घटना केस को सुलझाने के लिए 6 सितंबर का समय

उसी पीड़िता की सड़क दुर्घटना के षड्यंत्र के केस में सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को सीबीआई को जांच पूरी करने के लिए 6 सितम्बर तक का समय दिया। दुर्घटना में उन्नाव बलात्कार पीड़िता और उसके वकील गंभीर रूप से घायल हो गए थे। इस हादसे में पीड़िता के दो रिश्तेदारों की मौत हो गई थी।

उन्नाव केस: सुप्रीम कोर्ट ने CBI को 2 और हफ्तों का समय दिया, सरकार वकील को देगी 5 लाख

पहले दिया था केवल 2 सप्ताह का समय

कोर्ट ने इससे पहले सीबीआई को जांच पूरी करने के लिए दो सप्ताह का समय दिया था। न्यायालय ने यह देखते हुए जांच के लिए समय बढ़ा दिया कि जांच एजेंसी ने मामले में अभी तक ‘‘काफी विस्तृत जांच’’ की है। पीठ ने अपने आदेश में कहा, ‘‘कुछ जांच पहले से एकत्रित सामग्री, विशेष तौर पर इलेक्ट्रॉनिक रिकार्ड के मिलान और विश्लेषण से संबंधित है।

उन्नाव रेप केस: कुलदीप सिंह सेंगर का फोटो PM मोदी और Amit shah के साथ देख भड़की प्रियंका गांधी

वकील और पीड़िता के बयान अब तक नहीं हुए दर्ज

सबसे महत्वपूर्ण पीड़िता और कार चला रहे उसके वकील के बयान अभी तक दर्ज नहीं किये जा सके हैं, क्योंकि दोनों बयान देने की स्थिति में नहीं हैं।’’ सीबीआई ने बलात्कार पीड़िता और उसके वकील के बयान अब तक दर्ज ना हो पाने का हवाला देते हुए जांच पूरी करने के लिए अदालत से और चार सप्ताह का समय मांगा था। सीबीआई ने साथ ही यह भी कहा कि उसे अभी तक एकत्रित इलेक्ट्रॉनिक जांच का विश्लेषण भी करना है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.