Sunday, Feb 28, 2021
-->
acharya pramod congress raises questions on red fort pm modi amit shah rkdsnt

आचार्य प्रमोद का तंज-  लाल किले का इतना “अपमान” तो किसी “कमजोर” PM के दौर में भी नहीं हुआ

  • Updated on 1/26/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। किसान ट्र्र्रैक्टर परेड के बीच हिंसक वारदतों को लेकर अब राजनीतिक पारा भी गर्म हो गया है। विपक्षी दलों के नेताओं ने हिंसा और लाल किले पर लोगों द्वारा झंडा फहराए जाने पर सवाल उठाते हुए केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधना शुरू कर दिया है। सवाल उठाए जा रहे हैं कि सेंट्रल दिल्ली में आखिर किसान इतनी आसानी से कैसे घुस आए और लाल किले तक पहुंच गए। विपक्ष गृह मंत्रालय के अधीन दिल्ली पुलिस की कार्यक्षमता पर भी सवाल उठा रहा है। साथ ही अप्रत्यक्ष रुप से गृहमंत्री अमित शाह के रोल पर भी निशाना साध रहा है। 

किसान ट्रैक्टर परेड में हिंसा: कांग्रेस के बाद शिवसेना ने मोदी सरकार पर बोला हमला

आध्यात्मिक गुरु व कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने तो अपने तंज भरे ट्वीट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सवाल दाग दिया है। अपने ट्वीट में वह लिखते हैं, 'लाल क़िले का इतना “अपमान” तो किसी “कमज़ोर” प्रधान मंत्री के दौर में भी नहीं हुआ।' अमित शाह को टैग करते हुए आचार्य प्रमोद लिखते हैं, सरदार पटेल के “उत्तराधिकारी” होने का दावा करने वालों, कुछ तो शर्म करो।" अपने एक और ट्वीट में वह लिखते हैं, 'आंदोलन का “समर्थन” है “अराजकता” का नहीं।

योगेंद्र यादव ने आंदोलित किसानों से की शांति की अपील

शाह के नाम पर हो सकता है अयोध्या में मस्जिद का नाम

इससे पहले शिवसेना ने मोदी सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा है कि अगर सरकार चाहती तो आज की हिंसा रोक सकती थी। उन्होंने पूछा कि माहौल क्यों बिगड़ गया है। सरकार किसान विरोधी कानून रद्द क्यों नही कर रही? क्या कोई अदृश्य हाथ राजनीति कर रहा है? 

राहुल बोले- पीएम मोदी के जरिए अर्नब को मिली थी बालाकोट एयर स्ट्राइक की जानकारी

मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज ने तेल-से-रसायन कारोबार के लिए बनाई नई यूनिट

अपने दूसरे ट्वीट में संजय राउत लिखते हैं, 'क्या सरकार इसी दिन का बेसब्री से इंतजार कर रही थी? सरकार ने आखिर  तक लाखो किसानों की बात नही  सुनी। ये किस टाईप का लोकतंत्र हमारे देश में पनप रहा है? ये लोकतंत्र नही भाई..
कुछ और ही चल रहा है। जय हिंद।'

किसान संसद' में किसानों ने सरकार को चेताया- नहीं होने देंगे एक भी किसान की कुर्की

वहीं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने ट्ववीट में लिखा है, 'हिंसा किसी समस्या का हल नहीं है। चोट किसी को भी लगे, नुक़सान हमारे देश का ही होगा। देशहित के लिए कृषि-विरोधी क़ानून वापस लो!'

 

 

 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.