Friday, Jul 30, 2021
-->
activist shehla rashids father alleges death threat from daughter kmbsnt

पिता ने शेहला रशीद को बताया देश विरोधी गतिविधियों में शामिल, कहा- बैंक खातों की जांच हो

  • Updated on 12/1/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जेएनयू (JNU) स्टूडेंट्स यूनियन की पूर्व उपाध्यक्ष शेहला रशीद (shehla rashid) के पिता अब्दुल रशीद शोरा ने सोमवार को जम्मू-कश्मीर (Jammu Kasmir) के डीजीपी दिलबाग सिंह को पत्र लिखकर अपनी बेटी को देश विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा है कि उन्हें अपनी बेटी के 'बॉडीगार्ड' से जान का खतरा है, क्योंकि उन्होंने बेटी के  राजनीतिक और वित्तीय डील में भाग लेने से इनकार कर दिया है। 

शेहला के पिता का कहना है कि उनकी बेटी के वित्त पोषण की जांच होनी चाहिए, इसके साथ ही उन्होंने उस पर दो लोगों से 3 करोड़ रुपये प्राप्त करने का आरोप लगाया। वहीं शोरा ने कहा कि शेहला को पहली बार एक पार्टी में शामिल होने के लिए उनके माध्यम से राशि की पेशकश की गई थी जिसे पूर्व आईएएस अधिकारी शाह फैजल ने मंगाई थी। जब उन्होंने इनकार कर दिया, तो उनकी बेटी ने कथित तौर पर "सौदा" स्वीकार कर लिया।

दिल्ली दंगों से जुड़ी बंद पड़ी फाइल को खोलकर निष्पक्ष जांच का आदेश, कोर्ट ने सुनाया अहम फैसला

मेरी बेटी देशविरोधी गतिविधियों में शामिलः अब्दुल रशीद शोरा
शोरा का आरोप है कि उनकी बेटी देशविरोधी गतिविधियों में शामिल है। इतना ही नहीं उन्होंने ये भी कहा है कि इसमें उनकी पत्नी जुबैदा शौरा और बड़ी बेटी आसमा और एक अन्य पुलिसकर्मी साकिब अहमद भी उसके साथ हैं। 

वहीं शेहला ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से बयान जारी कर अपने पिता के आरोपों को बेबुनियाद बताया है। उन्होंने लिखा है कि उनके पिता अपनी पत्नी को पीटने वाले एक नापाक इंसान हैं। हमने उनके खिलाफ कार्रवाई करने का फैसला किया और ये स्टंट उसी का एक हिस्सा है। 

शेहला रशीद की गिरफ्तारी को लेकर दिल्ली HC ने पुलिस को दिया ये आदेश

शेहला के पिता ने कही पार्टी में शामिल होने के लिए 3 करोड़ रुपये लेने की बात
शेहला के पिता ने कहा है कि साल 2017 में उनकी बेटी अचानक से ही कश्मीर राजनीति में आई। पहले नैशनल कॉन्फ्रेंस और उसके पाद जेकेपीएम में वो शामिल हुईं। इतना ही नहीं टेरर फंडिंग मामले में पहले से गिरफ्तार इंजीनियर रशीद और जुहूर वटाली जैसे नेताओं ने उनकी बेटी को पार्टी में शामिल होने के लिए 3 करोड़ रुपये भी देने की पेशकश की। उन्होंने बताया कि जून 2017 में वटाली के घर पर उनको 3 नई पार्टी बनाकर उसमें शामिल होने के लिए 3 करोड़ रुपये की पेशकश की गई।

उन्होंने ये कहते हुए मना कर दिया कि ये पैसे गलत रास्ते से आए हैं और गलत जगह पर इनका इस्तेमाल होगा। अपनी बेटी को भी इसके लिए उन्होंने मना किया, लेकिन अपने पिता की बात न सुनते हुए उसने उन नेताओं का साथ दिया और कहा कि पैसे जहां पहुंचने थे वहां पहुंच गए हैं और इसी प्रकार आगे भी पैसे भेजे जाएंगे। 

पढ़ें ये महत्वपूर्ण खबरें-

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.