Tuesday, Jul 14, 2020

Live Updates: Unlock 2- Day 14

Last Updated: Tue Jul 14 2020 10:17 AM

corona virus

Total Cases

907,466

Recovered

572,112

Deaths

23,727

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA260,924
  • TAMIL NADU134,226
  • NEW DELHI113,740
  • GUJARAT42,808
  • UTTAR PRADESH38,130
  • KARNATAKA36,216
  • TELANGANA33,402
  • WEST BENGAL28,453
  • ANDHRA PRADESH27,235
  • RAJASTHAN24,487
  • HARYANA21,482
  • MADHYA PRADESH17,201
  • ASSAM16,072
  • BIHAR15,039
  • ODISHA13,737
  • JAMMU & KASHMIR10,156
  • PUNJAB7,587
  • KERALA7,439
  • CHHATTISGARH3,897
  • JHARKHAND3,774
  • UTTARAKHAND3,417
  • GOA2,368
  • TRIPURA1,962
  • MANIPUR1,593
  • PUDUCHERRY1,418
  • HIMACHAL PRADESH1,182
  • LADAKH1,077
  • NAGALAND771
  • CHANDIGARH549
  • DADRA AND NAGAR HAVELI482
  • ARUNACHAL PRADESH341
  • MEGHALAYA262
  • MIZORAM228
  • DAMAN AND DIU207
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS163
  • SIKKIM160
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
actor or politicians appeal people of india to maintain harmony in after ayodhya verdict

Ayodhya Case Verdict: अयोध्या फैसले को लेकर देश के नेताओं ने कही ये बड़ी बातें

  • Updated on 11/9/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आज पुरे देश की नजर अयोध्या (Ayodhya) में राम जन्म भूमि बाबरी मस्जिद विवाद के फैसला पर टिकी हुई थी और अयोध्या विवाद को लेकर सुरक्षा भी अयोध्या में सख्च कर दी गयी है। साथ ही सभी राज्यों और केंद्र प्रशासित प्रदेशों को हाई अलर्ट कर दिये गये है। सुप्रीम कोर्ट ने आज सुबह तकरीबन 10.30 बजे अपना ऐतिहासिक फैसला देते हुए विवादित जमीन राम जन्मभूमि न्यास को दे दिया है।

देश के सभी नेता और अभिनेता ने की शांति बरतने की अपील
 

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कहा यह फैसला न्यायिक प्रक्रियाओं में जन सामान्य के विश्वास को और मजबूत करेगा। -प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी


Amit shah ने सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का स्वागत करते हुए भारत की न्याय प्रणाली व सभी न्याय-मूर्तियों का अभिनंदन किया। 

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने लोगो कहा की यह एक ऐतिहासिक निर्णय है। और साथ ही जनता से शांति और शांति बनाए रखने की अपील की।

Manoj tiwari लोगों को देश में सौहार्द बना कर रखें की शपत लेने को बोल रहे है। सथ ही सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करने की अपील की। 

अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला आएगा, वो किसी की हार-जीत नहीं होगा। देशवासियों से मेरी अपील है कि हम सब की यह प्राथमिकता रहे कि ये फैसला भारत की शांति, एकता और सद्भावना की महान परंपरा को और बल दे।
-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

मेरी प्रदेशवासियों से अपील है कि अफवाहों पर ध्यान न दें। प्रशासन सभी की सुरक्षा व प्रदेश में कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए पूरी तरह कटिबद्ध है। कोई भी व्यक्ति यदि कानून व्यवस्था के साथ खिलवाड़ करने की कोशिश करेगा, तो उसके विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी ।          
 -योगी आदित्यनाथ

 

नीतीश कुमार ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए का की अब इस पर कोई विवाद नहीं होना चाहिए।अन्होंने  सभी से शांति और  नकारात्मक माहौल न बनाने की अपील की ।

हम शुरू से ही संविधान के दायरे में रहते आए हैं, अत: हम सभी को ऐसा कोई भी मुशायरा या प्रदर्शन नहीं करना चाहिए, जिससे किसी के मजहबी जज्बात को ठेस पहुंचे। अयोध्या का मामला बेहद संवेदनशील है और न सिर्फ हिदुस्तान बल्कि पूरी दुनिया की नजरें इसके फैसले पर टिकी हैं। मुस्लिम समुदाय से अपील है कि वह घबराएं नहीं और न्यायपालिका पर विश्वास बनाए रखें। 
- मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली, वरिष्ठ सदस्य, ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड 

Ayodhya Case Verdict Live: सुप्रीम कोर्ट का फैसला थोड़ी देर में, कोर्ट के लिए निकले CJI रंजन गोगोई

समाज के सभी वर्ग  अदालत के फैसले का सम्मान करें। लोगों को इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि वह ऐसा कोई काम ना करें, जिससे दूसरों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचे। उन्हें पूरा भरोसा है कि अयोध्या मामले में जो भी फैसला होगा, देश उसे खुले दिल से स्वीकार करेगा। 
- सर्वेश शुक्ला, पुरोहित, दक्षिण मुखी हनुमान मंदिर, लखनऊ

अयोध्या के रामजन्म भूमि विवाद मामले पर उ४चतम न्यायालय के पांच वरिष्ठ न्यायाधीशों की पीठ का आने वाला फैसला अनुकूल होने पर न तो हंगामा किया जाना चाहिए और न ही प्रतिकूल फैसला आने पर निराश होना चाहिए। किसी भी पक्ष को चिढ़ाने वाली कोई बात या ऐसा कोई काम नहीं किया जाना चाहिए। अदालत की इजाजत से वह भी 40 दिन तक लगातार चली सुनवाई के दौरान मौजूद रहे। 
- चंपतराय बंसल, अंतरराष्ट्रीय उपाध्यक्ष, विश्व हिंदू परिषद 

हम लोकतांत्रिक देश में रहते हैं और यहां कानून सबके लिए बराबर है अत: सभी को अदालत के फैसले का सम्मान करना चाहिए। इसी को संस्कार कहते हैं। 
फादर डोनाल्ड डिसूजा, चांसलर, कैथोलिक डायोसियस, लखनऊ 

 

comments

.
.
.
.
.