Sunday, Nov 28, 2021
-->
aditya thackeray shiv sena dreaming of becoming next deputy chief minister of maharashtra

महाराष्ट्र का अगला उपमुख्यमंत्री बनने का ख्वाब देख रहे हैं आदित्य ठाकरे!

  • Updated on 9/21/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। शिवसेना नेता आदित्य ठाकरे ने शनिवार को कहा कि उन्हें कोई पद नहीं चाहिए, लेकिन वह किसी जिम्मेदारी से नहीं भागेंगे। आदित्य ठाकरे की पार्टी के कुछ नेता उन्हें महाराष्ट्र के अगले उपमुख्यमंत्री के तौर पर पेश कर रहे हैं। आदित्य ने कहा, ‘‘मैं किसी पद के पीछे नहीं भाग रहा...मैं लोगों के सपनों और उनकी आकांक्षा को साकार करने के लिए काम करुंगा।’’  

गावस्कर, सुनील शेट्टी अमेरिकी कंपनी के निदेशक मंडल में हुए शामिल

क्या वह महाराष्ट्र के अगले उपमुख्यमंत्री होंगे, यह पूछे जाने पर युवा शिवसेना प्रमुख ने कहा कि इसका फैसला उनके पिता, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे करेंगे। उन्होंने यहां ‘इंडिया टुडे कॉनक्लेव 2019’ में कहा कि शिवसेना लोगों की भावनाओं के आधार पर फैसला करेगी कि क्या उन्हें चुनाव लडऩा चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘मैं किसी भी जिम्मेदारी से नहीं भागने वाला...मेरे लिए सबसे महत्वपूर्ण ये है कि चुनाव में मेरी पार्टी के सभी उम्मीदवार जीतें।’’ 

कॉलेजियम ने फैसला बदला, त्रिपुरा हाई कोर्ट के लिए न्यायमूर्ति कुरैशी के नाम की सिफारिश

राम मंदिर के मुद्दे पर आदित्य ने कहा कि उन्होंने अयोध्या में लोगों की भावनाएं महसूस की थी और दावा किया कि शिवसेना और उसकी सहयोगी भाजपा की समान इच्छा है कि मंदिर वहां बने, जहां भगवान राम का जन्म हुआ था। आदित्य के पहले कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने कहा था कि मुंबई मेट्रो के कारशेड के लिए आरे कॉलोनी की जमीन की जरूरत है, हालांकि इसके लिए पेड़ काटने पड़ेंगे। आदित्य ने आरे में पेड़ों को काटे जाने के खिलाफ नागरिकों की मुहिम का समर्थन किया है। 

बैंक फ्रॉड : इंटरपोल की मदद से गुजरात की कंपनी का CMD गिरफ्तार

इस बारे में पूछे जाने पर आदित्य ने कहा कि कार शेड वहां नहीं बनेगा। उन्होंने कहा, ‘‘यह मुद्दा महज गठबंधन के बारे में नहीं है, यह आदित्य बनाम मुख्यमंत्री ना ही शिवसेना बनाम भाजपा का मुद्दा है। यह मुंबई बनाम पर्यावरण को नुकसान का मुद्दा है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम भी मेट्रो चाहते हैं...मुख्यमंत्री की तरह यह हमारा भी सपना है... लेकिन मुद्दा पेड़ों को काटने का नहीं बल्कि पारिस्थितिक तंत्र का है।’’

चिन्मयानंद प्रकरण की पीड़िता और उसके मित्रों के खिलाफ SIT ने किया केस दर्ज

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.