Wednesday, Jul 24, 2019

CM आदित्यनाथ की अफसरों को सख्त हिदायत, शिक्षा की गुणवत्ता में करें सुधार

  • Updated on 6/18/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी (CM Yogi) आदित्यनाथ ने सोमवार को प्रदेश के बेसिक शिक्षा विभाग व माध्यमिक शिक्षा विभाग (Education Department) के अधिकारियों संग समीक्षा बैठक की जिसमें उन्होंने सख्त लहजे में अफसरों को शिक्षा (Education) की गुणवत्ता में सुधार लाने के निर्देश देते हुए कहा कि अफसर मुख्यालय में बैठने की बजाय फील्ड में जाकर सरप्राइज विजिट करें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर विभाग में कोई भी फाइल तीन से ज्यादा रुकी तो उस अफसर पर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बच्चों को पाठ्य पुस्तक, स्कूल बैग और यूनिफॉर्म मुहैया कराने में देरी को लेकर अफसरों को फटकार लगाई और कहा कि तत्काल सामग्री जारी की जाए।

Related image

आदित्यनाथ ने विद्यालयों में सोलर पैनल लगाने पर भी जोर देते हुए कायाकल्प योजना के तहत प्रधानाचार्य व जनसेवकों को आगे आने को कहा। उन्होंने मध्याह्न भोजन योजना के तहत लखनऊ और मथुरा में अक्षयपात्र को आधार से लिंक कराने के भी निर्देश जारी किए। साथ ही सख्त हिदायत दी कि शिक्षा विभाग के प्रत्येक कर्मचारी को महीने के पहले हफ्ते में ही वेतन मिल जाना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय का माध्यमिक स्तर तक उच्चीकरण किया जाए।

दिल्ली सरकार की अनूठी योजना, स्कूल में बच्चे की गतिविधियों को लाइव देख सकेंगे माता-पिता
 

Image result for yogi adityanath angry

उन्होंने आगे कहा कि शिक्षा विभाग के अधिकारियों को प्रधानाचार्यों, अध्यापकों और कर्मचारियों के साथ बात करनी चाहिए और उनकी जो भी जरूरतें हैं वो शासन को बताए ताकि केंद्र सरकार समस्या का हल कर सके। उन्होंने प्रधानाचार्यों को साल में दो बार अभिभावकों के साथ मीटिंग करने के निर्दश दिए। साथ ही सभी बीएसए को रोजाना स्कूलों का निरीक्षण करने को कहा।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.