Monday, Dec 06, 2021
-->
after kalapani nepal claims on nainital and dehradun djsgnt

कालापानी के बाद नैनीताल और देहरादून पर नेपाल की नजर, किया ये दावा

  • Updated on 9/17/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। नेपाल की सत्ताधारी पार्टी नेपाली कम्युनिस्ट पार्टी (Communist Party) ने भारत के नए इलाकों को अपना होने का दुष्प्रचार शुरू कर दिया है। नेपाल द्वारा जिन जगहों पर दावा ठोका जा रहा है उसमें उत्तराखंड, हिमाचल, उत्तर प्रदेश, बिहार और सिक्किम तक के प्रमुख शहर शामिल है। साल 1816 में हुई सुगौली संधि से पहले के नेपाल की तस्वीर दिखाकर नेपाल के नागरिकों को भ्रमित किया जा रहा है।

J&K: श्रीनगर में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में 3 आतंकी ढेर, 2 जवान घायल

विवादित नक्शा को संसद कराया पास
गौरतलब है कि भारत और नेपाल के रिश्ते आज अपने सबसे खराब दौर में से एक में है। हाल मे नेपाल ने भारत सरकार की चेतावनी के बाद भी भारत के उत्तराखण्ड राज्य के  लिपुलेख और कालापानी जैसे हिस्सों को नेपाल का हिस्सा बताकर एक नया विवादित नक्शा अपनी संसद से पास कर दिया है। जिससे दोनों देशों के रिश्ते अपने सबसे खराब दौर में पहुंच गए हैं। लेकिन भारत और नेपाल के रिश्ते हमेशा ऐसे नहीं रहे हैं। भारत और नेपाल दो भाई की तरह है जो कभी लड़ते तो फिर एक साथ आ जाते हैं।  

BRICS देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की बैठक आज, भारत और चीन भी होंगे शामिल

राजीव गांधी की भी मानी थी बात
इससे पहले भारत और नेपाल के बीच सभी तरह के सीमा विवाद का हल बात-चीत से निकलता रहा है। 1980 के दौरान तत्कालीन राजा बीरेन्द्र सिंह ने भारतीय सीमा के नजदीक 210 कि.मी. रोड़ बनाने के लिए पहले चीन को ठेका दिया था मगर जब बाद में प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने इसे लेकर चिंता जताई थी तो उन्होंने यह ठेका भारत को दे दिया। 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.