Sunday, Nov 28, 2021
-->
after-supreme-court-verdict-on-ayodha-dispute-ministers-gave-these-statements

अयोध्या विवाद: सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद मंत्रियों ने दिए ये बयान, पढ़ें

  • Updated on 10/29/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल।  सुप्रीम कोर्ट में आज अयोध्या विवादित मामले पर सुनवाई हुई। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली तीन सदस्यीय की पीठ ने ये सुनवाई की। पीठ में जस्टिस संजय किशन कौल और जस्टिस केएम जोसेफ शामिल थे। कोर्ट ने फैसला किया है कि तीन महीने के लिए इस मामले पर कोई सुनवाई नहीं की जाएगी। इस मामले पर अब जनवरी 2019 में सुनवाई की जाएगी।

 मामले पर फैसला आने के बाद से ही नेताओं ने अपने बयान देना शुरू कर दिया है चलिए जानते है आखिर किसने क्या कहा...

अयोध्या विवाद: जानें, तीन मिनट में 3 महीने के लिए सुनवाई टालने वाले SC के ये जज हैं कौन

बीजेपी के नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने कहा कि हमे दिसंबर में समीक्षा करनी चाहिए कि राम मंदिर विवाद मामले को जल्दी से स्थगित किया जा रहा है या फिर कांग्रेस के वकील मामले को टालने के लिए अन्य चीजें ढुंढ लेंगे।

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कोर्ट के फैसले पर कहा कि अब हिंदुओं के सब्र का बांध टूट रहा है। उन्होंने आगे कहा कि मुझे तो डर है कि अगर हिंदुओं के सब्र का बांध टूट गया तो क्या होगा। 

अयोध्या मामले में जनवरी 2019 तक के लिए टली सुनवाई

बाबरी मस्जिद 26 साल: जानिए क्यों नरसिम्हा राव ने कर दिया था राष्ट्रपति तक को नजरअंदाज

इस मामले पर उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने इसपर कुछ भी कहने से साफ इंकार कर दिया उन्होंने कहा कि मैं इस पर कुछ नही कहना चाहता क्योंकि ये कोर्ट का फैसला है। हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि सुनवाई को टालने से अच्छे संकेत नहीं मिला है।

इस मामले पर AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी सरकार को अध्यादेश लाने की चुनौती दे दी है। फैसले के बाद एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए ओवैसी ने कहा कि कोर्ट शुरू से कह रहा है ये टाइटल सूट है। अब सब चीफ जस्टिस की बेंच ने कह दिया है कि जनवरी की बेंच ने कह दिया है कि जनवरी में अगली सुनवाई होनी, तो किसी तरह का सवाल नहीं होना चाहिए। 

ओवैसी ने आगे कहा कि  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गिरिराज सिंह को अटॉर्नी जनरल बना दीजिए और वो सीजेआई के सामने कहेंगे कि हिंदुओं का सब्र टूट रहा है। ओवैसी ने कहा कि अगर 56 इंच का सीना है तो सरकार अध्यादेश लाकर दिखाए । 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.