Friday, May 14, 2021
-->
after-the-padmavati-kedarnath-started-protesting

पदमावती के बाद केदारनाथ को लेकर विरोध शुरू

  • Updated on 12/4/2018

नैनीताल/ब्यूरो। संजय लीला भंसाली की फिल्म पदमावती के बाद निर्माता निर्देशक अभिषेक कपूर की केदारनाथ फिल्म चर्चाओं में है। प्रदेश में उसका विरोध शुरू हो गया है। साधु संत इसे हिन्दू आस्था के खिलाफ बता रहे हैं। उनको फिल्म की कहानी को लेकर विरोध है। मोक्ष के धाम केदारनाथ को जिस तरह प्यार के धाम के रूप में दर्शाया गया है, साधु संत उससे उद्वेलित हैं।

स्वामी दर्शन भारती की ओर से इस मामले को उच्च न्यायालय में चुनौती दी जा रही है। दर्शन भारती ने पत्रकारों से आज कहा कि केदारनाथ धाम देश ही नहीं विदेशियों की आस्था का केन्द्र है। केदारनाथ भगवान शिव के 12 ज्योर्तिलिंगों में से प्रमुख ज्योर्तिलिंग हैं। केदारनाथ को मोझ का धाम माना जाता है।

जल्द ही एक साथ फिल्म में दिखेंगे संजय दत्त और आयुष शर्मा

स्वामी दर्शन भारती ने कहा कि फिल्म की पटकथा के अनुसार एक हिन्दू लड़की के परिवार वाले जब मुस्लिम लड़के से शादी करने से मना कर देते हैं तो हीरो-हीरोइन केदारनाथ बाबा से प्रार्थना करते हैं कि प्रलय आ जाये। उन्होंने कहा कि फिल्मकार ने सन् 2013 में आयी केदारनाथ आपदा को वजह दर्शाकर अमर्यादित कार्य किया है जिसमें हजारों लोगों ने जाने गवायी हैं। 

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के साथ ही सेंसर बोर्ड को भी उन्होंने अपनी आपत्ति भेजी है। उन्होंने फिल्म के साथ केदारनाथ धाम को जोड़ने को गलत बताया और इसे हटाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि अभी तक दोनों ने कोई कदम नहीं उठाया है। इसलिये उन्हें उच्च न्यायालय की शरण में आना पड़ा है। उन्होंने कहा कि वे इस मामले को एक जनहित याचिका के माध्यम से चुनौती देंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.