Thursday, May 06, 2021
-->
agitating farmers announced rail stop campaign rakesh tikait attacks bjp modi govt rkdsnt

आंदोलनकारी किसानों ने चार घंटे के लिए ‘रेल रोको’ अभियान का किया ऐलान

  • Updated on 2/10/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। तीन नये कृषि कानूनों के खिलाफ अपने आंदोलन को तेज करते हुए प्रदर्शनकारी किसान यूनियनों ने 18 फरवरी को चार घंटे के राष्ट्रव्यापी ‘रेल रोको’ अभियान की बुधवार को घोषणा की। संयुक्त किसान मोर्चा ने एक बयान में यह भी घोषणा की कि राजस्थान में 12 फरवरी से टोल संग्रह नहीं करने दिया जायेगा।

माकपा ने न्यूज पोर्टल के कार्यालय पर ED छापे को स्वतंत्र मीडिया पर हमला करार दिया 

बयान में कहा गया है, ‘‘पूरे देश में 18 फरवरी को दोपहर 12 बजे से शाम चार बजे तक ‘रेल रोको’ अभियान चलाया जायेगा।’’ तीन कृषि कानूनों को निरस्त किये जाने की मांग को लेकर इस महीने के शुरू में उन्होंने तीन घंटे के लिए सड़कों को अवरुद्ध किया था। गौरतलब है कि दिल्ली की सीमाओं पर किसान पिछले कई महीनों से अपनी मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। 

पेट्रोल, डीजल की कीमतों में लगातार दूसरे दिन बढ़ोतरी, धर्मेंद्र प्रधान की सफाई

आंदोलनकारी किसान मुद्दों का समाधान चाहते हैं : टिकैत
भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने बुधवार को कहा कि आंदोलनकारी किसान केंद्र में कोई सत्ता परिवर्तन नहीं, बल्कि अपनी समस्याओं का समाधान चाहते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि किसान नेता आंदोलन के प्रसार के लिए देश के विभिन्न हिस्सों का दौरा करेंगे। टिकैत ने सिंघू बॉर्डर पर किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन तब तक जारी रहेगा जब तक कि केंद्र कृषकों के मुद्दों का समाधान नहीं कर देता। 

ओमप्रकाश राजभर बोले- राम मंदिर के नाम पर चुनाव के लिए चंदा जुटा रही है भाजपा 

उन्होंने कहा, ‘‘सत्ता परिवर्तन (केंद्र में) का हमारा कोई उद्देश्य नहीं है। सरकार को अपना काम करना चाहिए। हम कृषि कानूनों को निरस्त कराना और एमएसपी पर कानून चाहते हैं।’’ टिकैत ने यह भी कहा कि संयुक्त किसान मोर्चे की एकता अक्षुण्ण है और सरकार को किसी भ्रम में नहीं रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि देशभर में बड़ी बैठकों का आयोजन कर और 40 लाख ट्रैक्टरों को शामिल कर आंदोलन को विस्तारित किया जाएगा। टिकैत ने कहा कि किसान नेता आंदोलन के प्रसार के लिए विभिन्न राज्यों का दौरा करेंगे।

सुरंग में फंसे लोगों को निकालने का अभियान पड़ा धीमा, अब तक 32 शव बरामद

 

 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

 

comments

.
.
.
.
.