Monday, Sep 20, 2021
-->
agriculture-minister-tomar-say-farmers-tell-objections-provision-bjp-modi-govt-will-consider-rkdsnt

तोमर बोले- किसानों को जिस प्रावधान पर आपत्ति है, खुले मन से बताएं, करेंगे विचार

  • Updated on 6/25/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने शुक्रवार को कहा कि केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के विरोध प्रदर्शन के सवाल पर तोमर ने कहा कि किसान संघों के नेताओं से सरकार 10-11 बार बात कर चुकी है, 50 घंटे से अधिक चर्चा चली है। उन्होने कहा कि उनकी परेशानियां समझने का प्रयास किया है और आज भी भारत सरकार पूरा मन रखती है कि जिस प्रावधान पर उन्हें आपत्ति है वह खुले मन से बताएं, हम विचार करने के लिए, निराकरण करने के लिए भी तैयार हैं। 

टिकैत ने किया साफ- किसान यूपी में होने वाले विधानसभा चुनाव में सोच समझ कर लेंगे फैसला

इसके साथ ही तोमर ने कहा, ‘‘जब भी किसानों की ओर से प्रस्ताव आएगा तो हम निश्चित रूप से बातचीत के लिए तैयार हैं।’’ तोमर यहां भाजपा की अनुसूचित जाति/ जनजाति प्रकोष्ठ की बैठक से इतर पत्रकारों से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जम्मू-कश्मीर के विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ बातचीत ‘‘सराहनीय’’ है और यह वहां आतंकवाद की जगह शांति, सछ्वाव और विकास स्थापित करेगी।  

पंजाब में सरकारी डॉक्टर हड़ताल पर गए, स्वास्थ्य सेवाएं प्रभावित

प्रधानमंत्री ने बृहस्पतिवार को नई दिल्ली में जम्मू-कश्मीर की मुख्यधारा की दलों के गठबंधन के नेताओं से मुलाकात की थी। बैठक के बारे में एक सवाल के उत्तर में तोमर ने कहा, ‘‘ प्रधानमंत्री जी की कल जो बैठक रही वह बहुत ही सराहनीय रही है और आप लोगों ने देखा होगा कि जितने नेतागण वहां उपस्थित थे सभी लोगों ने आशा भरी नजरों से उस बैठक को लिया है। मुझे लगता है प्रधानमंत्री की जो पहल और कल्पना है उससे जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद की जगह शांति ,सछ्वाव और विकास स्थापित होगा।’’ उन्होंने कहा कि अनुच्छेद 370 की समाप्ति के बाद जम्मू कश्मीर में पूरी तरह से शांति है, सौहार्द का वातावरण है। 

शिवसेना नेता राउत बोले- राम मंदिर भूमि खरीद केस CBI, ED जांच के लायक

उन्होंने कहा कि पंचायत से लेकर जिला पंचायत के चुनाव अच्छे वातावरण में संपन्न हो गए हैं। उन्होंने दावा किया कि केन्द्र सरकार के पंचायती राज मंत्रालय ने एक बड़ी राशि पंचायतों के विकास के लिए वहां दी है तथा कृषि क्षेत्र में और कृषि उत्पादों के विपणन के क्षेत्र में भारत सरकार बहुत तेजी से जम्मू-कश्मीर में काम कर रही है।  

बाबा रामदेव IMA की FIR के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट की शरण में

comments

.
.
.
.
.