Sunday, Sep 26, 2021
-->
air india pilot unions conflict of interest demand for removal of director commercial rkdsnt

एयर इंडिया पायलट यूनियनों ने की निदेशक-वाणिज्यिक को पद से हटाने की मांग

  • Updated on 1/4/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। एयर इंडिया की पायलट यूनियनों... इंडियन पायलट्स गिल्ड (आईपीजी) और इंडियन कर्मिशयल पायलट्स एसोसिएशन (आईसीपीए) ने एयरलाइन की निदेशक (वाणिज्यिक) मीनाक्षी मलिक को पद से हटाने की मांग की है। पायलट यूनियनों का कहना है कि मलिक ने कर्मचारियों के गठजोड़ के प्रमुख के रूप में एयरलाइन के लिए बोली लगाई है। ऐसे में ‘हितों के टकराव’ की स्थिति बनती है, इसलिए मलिक को पद से हटाया जाना चाहिए।

 कांग्रेस ने भाजपा पर लगाया धान खरीदी को बाधित करने का आरोप

इन आरोपों पर मलिक ने कहा कि वह पहले ही खुद को विनिवेश पर बोर्ड की बैठक से अलग कर चुकी हैं और अभी एयरलाइन के रोजाना के कामकाज को ही देख रही हैं। मलिक ने कहा, ‘‘मैंने 30 नवंबर को चेयरमैन और निदेशक मंडल को पत्र लिखकर बताया था कि मैं बोली में भाग ले रही हैं। ऐसे में जब भी विनिवेश से संबंधित बोर्ड की बैठक होगी, मैं उससे अलग रहूंगी।’’  उन्होंने कहा कि अभी वह एयरलाइन के रोजाना के कामकाज से जुड़ी हैं और उन्हें पत्र की कोई जानकारी नहीं है। ‘‘जहां तक बोली लगाने का सवाल है तो भारत सरकार ने मुझे इसका अधिकार दिया है और मै उसी के अनुरूप चल रही हूं।’’  

MCD चुनावों की तैयारी में AAP, भ्रष्टाचार को लेकर करेगी 2500 मोहल्ला सभाएं

उन्होंने कहा कि पिछले साल 20 जनवरी को जारी शुरुआती सूचना ज्ञापन (पीआईएम) के जरिये सरकार ने एयरलाइन के पूर्णकालिक निदेशकों को बोली प्रक्रिया में शामिल होने की अनुमति दी थी। 14 दिसंबर को बोलियां जमा करने की अंतिम तारीख थी। उस दिन सरकार ने कहा था कि एयर इंडिया के रणनीतिक विनिवेश के लिए कई बोलियां मिली हैं। हालांकि, सरकार ने बोली लगाने वालों का खुलासा नहीं किया था। हालांकि, सूत्रों ने कहा था कि टाटा संस, मलिक की अगुवाई वाले एयर इंडिया कर्मचारियों के एक समूह और अमेरिका की कंपनी इंटरअप्स ने एयर इंडिया के लिए बोली लगाई है। 

आंदोलित किसानों के समर्थक दिलजीत दोसांझ ने आयकर जांच की खबरों पर रखी अपनी बात

एयर इंडिया के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक राजीव बंसल को सोमवार को लिखे संयुक्त पत्र में पायलट यूनियनों ने कहा है कि 16 दिसंबर के कार्यालय आदेश के अनुसार यह तथ्य सामने आया है कि प्रबंधन कर्मचारियों के एक गठजोड़ ने एयर इंडिया के रणनीतिक विनिवेश के लिए बोली लगाई है।

प्रशांत भूषण, वरुण ग्रोवर, वीर दास ने कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी की गिरफ्तारी पर उठाए सवाल

पत्र में कहा गया है कि यह गठजोड़ मलिक की अगुवाई वाला है। वाणिज्यिक विभाग के प्रमुख के रूप में उनके पास हमारे पूरे नेटवर्क तथा मौजूदा और भविष्य की कारोबारी योजना की भेदिया सूचना तक पहुंच है। पत्र में कहा गया है कि यह हितों के टकराव का मामला है और मलिक तथा संवेदनशील पद पर बैठे अन्य महत्वपूर्ण प्रबंधन कर्मचारी बोलीदाताओं को पद से हटाया जाना चाहिए।      

चीनी कंपनी पर मेहरबान मोदी सरकार, कांग्रेस ने दागे भाजपा पर सवाल

 

 

 

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

 

  •  
Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.