Friday, May 14, 2021
-->
air-india-will-sell-76-percent-stake-in-the-deficit-congress-raised-questions

घाटा झेल रही एयर इंडिया की 76% हिस्सेदारी बेचेगी सरकार,कांग्रेस ने खड़े किए सवाल

  • Updated on 3/29/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कर्ज में डूबी एयर इंडिया की 76 फीसदी हिस्सेदारी बेचने और इसके प्रबंधन की जिम्मेदारी निजी कंपनियों को देने के लिए केंद्र सरकार ने बुधवार को एक योजना पेश की है। सरकार के इस फैसले के साथ ही एयर इंडिया के विनिवेश की प्रक्रिया शुरू हो गई है। 

खुशखबरी! केजरीवाल सरकार ने दिल्ली वासियों को दिया सस्ती बिजली का तोहफा

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री  बिक्री के लिए विस्तृत प्रारंभिक जानकारी पेश करते हुए कहा कि प्रस्तावित विनिवेश में लाभ देने वाली एयर इंडिया एक्सप्रेस तथा संयुक्त अद्यम एआईएटीएसएल भी शामिल होंगी। वहीं कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद अहमद पटेल ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए ट्वीट कर कहा कि वह एयर इंडिया निजी करण की शर्तों को सुनने के बाद हैरान हैं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार 76 फीसदी इक्विटी शेयर बेच देगी लेकिन कंपनी के कर्ज का 52 फीसदी बरकरार रखेगी।

6 साल बाद PAK पहुंची मलाला, सुरक्षा के कड़े इंतजाम

साथ ही उन्होंने सवाल किया कि क्या यह कुछ निजी एजेंटों को फायदा पहुंचाने के लिए तैयार किया गया पूरी विक्रय नहीं है। आपको बता दें कि एयर इंडिया घाटे में चल रही है इसकी दो सब्सिजियरीज में हिस्सेदारी बेचने के लिए नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने रुचि पत्र (EOI)  मंगाए हैं।   

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.