air-pollution-damages-every-body

हर अंग को नुकसान पहुंचाता है वायु प्रदूषण

  • Updated on 5/20/2019

वायु प्रदूषण बेहद भयावह है और इसके दुष्प्रभावों के बारे में काफी कुछ लिखा-सुना जाता रहा है-दीवाली से लेकर नए साल तक, परंतु अभी तक इसे कम करने या इससे बचाव के लिए किसी भी सरकार में गम्भीर पग उठाने की इच्छा शक्ति दिखाई नहीं दी है। वैज्ञानिक कहते रहे हैं कि प्रदूषित इलाकों में रहने वाले लोगों में श्वास तथा अन्य रोगों का जोखिम बहुत ज्यादा होता है परंतु एक नया अंतर्राष्ट्रीय शोध बेहद ङ्क्षचताजनक नतीजों के बारे में आगाह कर रहा है। 

इसके अनुसार वायु प्रदूषण मानव शरीर के प्रत्येक अंग और प्रत्येक कोशिका (सैल) को हानि पहुंचा सकता है। दूषित वायु से शरीर को सिर से पैरों तक हानि पहुंचती है। यह दिल व फेफड़ों की बीमारियों, डायबिटीज, डिमेंशिया, यकृत की समस्याओं एवं मूत्राशय के कैंसर, हड्डियों के शिथिल पडऩे और त्वचा तक को पहुंचने वाली हानि के लिए जिम्मेदार हो सकता है। प्रजनन क्षमता, भ्रूण और बच्चे भी विषाक्त हवा से प्रभावित हो रहे हैं। 

वायु प्रदूषण का अर्थ है किसी भी अनचाहे तत्व का सांस लेने वाली हवा में घुल जाना। सांस के साथ ये अनचाहे तत्व भी हमारे फेफड़ों और रक्त में प्रवेश कर जाते हैं तथा शरीर को पहुंचने वाली क्षति उन ‘अल्ट्राफाइन पाॢटकल्स’ यानी बेहद महीन कण रूपी प्रदूषकों का नतीजा है जो शरीर में सूजन का कारण बनते हैं व रक्त के माध्यम से सारे शरीर में फैल जाते हैं। 

अध्ययन के अनुसार ‘अल्ट्राफाइन पाॢटकल्स’ फेफड़ों से गुजर कर आसानी से शरीर की कोशिकाओं में घुस जाते हैं। इसके बाद रक्त प्रवाह के माध्यम से वे शरीर के सभी अंगों की कोशिकाओं को प्रभावित करते हैं। इसी लिए वैज्ञानिकों को लगता है कि वायु प्रदूषण शरीर के हर अंग को प्रभावित कर सकता है और ऐसे-ऐसे रोगों की वजह भी हो सकता है जिनके साथ संबंध स्थापित करने के बारे में अभी हमारे पास कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं हैं। 

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार वायु प्रदूषण एक ‘पब्लिक हैल्थ एमरजैंसी’ यानी ‘सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल’ है क्योंकि दुनिया की 90 प्रतिशत से अधिक आबादी जहरीली हवा में सांस ले रही है। इसकी वजह से प्रतिवर्ष 88 लाख असमय मौतें हो सकती हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.