अपनी शर्तों पर अड़ा अकाली दल, मनाने में जुटी भाजपा

  • Updated on 2/2/2019

नई दिल्ली/ (सुनील पाण्डेय) : भारतीय जनता पार्टी एवं शिरोमणि अकाली दल के बीच बन चुकी खांईं को भरने के लिए आज दिनभर दोनों दलों के नेता मंथन करते रहे। अकाली दल अपनी कुछ शर्तों को लेकर अड़ा हुआ है। इसको लेकर वह भाजपा नेताओं से बातचीत कर रहा है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल खुद भी भाजपा के वरिष्ठ नेताओं के साथ संपर्क में हैं।

बात बन गई तो ठीक अन्यथा अकाली दल अपना रुख अख्तियार कर सकता है। इसको लेकर शनिवार को चंडीगढ़ में शिरोमणि अकाली दल ने पार्टी की कोर कमेटी की बैठक बुलाई है। इस बैठक में गठबंधन तोडऩे एवं भाजपा से अलग होने का फैसला लिया जा सकता है। बैठक में खासतौर पर पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल भी मौजूद रहेंगे। सूत्रों के मुताबिक अकाली दल अपने वरिष्ठ नेता नरेश गुजराल को भी मैदान में उतारा है। उन्होंने भाजपा में महासचिव (संगठन) रामलाल एवं केंद्रीय मंत्री जगत प्रकाश नड्डा से भी बातचीत की है।

इसके अलावा अकाली अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से भी संपर्क किया है। सूत्रों की माने तो अकाली दल अपने भविष्य और सियासी जमीन को बचाने के लिए आज दिनभर दिल्ली में मंथन करता रहा। पार्टी ने भाजपा के समक्ष महाराष्ट्र के नांदेड में हजूर साहिब कमेटी को बचाने, पंजाब में किसानों को और अच्छा पैकेज देने सहित कुछ शर्ते रखी हैं।

अकाली दल की येाजना है कि अगर भाजपा उसकी बाते मान लेती है तो वह पंजाब में जाकर एक अच्छा मैसेज दे पाएंगे, अन्यथा हाथ में कुछ नहीं लगेगा। उधर, भाजपा की ओर से पार्टी के राष्ट्रीय सचिव एवं सिख नेता आरपी सिंह ने मोर्चा संभाल रखा है।

भाजपा अकाली-गठबंधन के बीच अब तक वरिष्ठ नेता अरूण जेटली सेतु का काम करते थे, लेकिन उनके विदेश में जाने के चलते बात बिगड़ गई। खैर, आरपी सिंह शुक्रवार को दिनभर अकाली दल के अलग-अलग नेताओं के साथ बैठकें कर मामले को जल्द से जल्द सुलझाने की कोशिश में लगे रहे। आरपी सिंह ने अकाली सांसद प्रो. प्रेम सिंह चंदूमाजरा, नरेश गुजराल से मुलाकात की। साथ ही केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल से संपर्क कर मसले को खत्म करने की बात की। 

भाजपा रिश्ता नहीं तोड़ेगी : आरपी सिंह 

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय मंत्री आरपी सिंह ने कहा कि भाजपा और अकाली दल का गठबंधन अटूट है, यह कभी नहीं टूटेगा। अकाली दल को किसी बात की दिक्कत है तो उसे बैठकर सुलझा लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि वह खुद संपर्क में हैं और मामला सुलझ भी गया है। बादल परिवार का सम्मान पहले की तरह बरकरार रहेगा।    

सिख संगतों को गुमराह कर रहे हैं सिरसा : सरना 

शिरोमणी अकाली दल (दिल्ली) के महासचिव हरविंदर सिंह सरना ने कहा कि दिल्ली विधान सभा में भाजपा के विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा द्वारा अपनी ही पार्टी के खिलाफ साजिश के तहत दी जा रही चेतावनियों का मकसद दिल्ली कमेटी पर आरएसएस का कब्ज़ा जारी रखने के अलावा और कुछ भी नहीं है।

सरना ने कहा कि सोची समझी साजिश के तहत सिरसा द्वारा यह दिखाने की कोशिश की जा रही है वह आरएसएस का विरोध कर रहा है जबकि इस सारी कवायत का पूरा उद्देश्य सिरसा का दिल्ली कमेटी पर पूर्ण नियंत्रण करवाना है। उन्होंने कहा कि सिरसा अपने भाजपा सहयोगियों के साथ मिलकर एक दूसरे के विरुद्ध बयानबाजी करके सिख संगतों को गुमराह और भ्रमित कर रहे हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.