Thursday, Aug 18, 2022
-->
akhilesh yadav raises questions on transfers in health department yogi government on target

योगी सरकार के 100 दिन के मौके पर अखिलेश यादव ने तबादलों पर सवाल उठाए

  • Updated on 7/5/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश की मौजूदा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार को ‘कुछ ताकतें’ पीछे से चला रही हैं। पूर्व मुख्यमंत्री यादव ने यहां संवाददाता सम्मेलन में राज्य के मौजूदा उपमुख्यमंत्री बृजेश पाठक द्वारा स्वास्थ्य विभाग में किए गए तबादलों पर सवाल उठाए जाने का जिक्र करते हुए कहा, 'उप मुख्यमंत्री लखनऊ छोड़कर गए और वापस आए तो उन्हें पता लगा कि उनसे पूछे बगैर स्वास्थ्य विभाग में तबादले कर दिए गए। यह वही उपमुख्यमंत्री हैं जिन्होंने सरकारी अस्पताल में सबसे ज्यादा छापेमारी की लेकिन तमाम कमियां मिलने के बावजूद अगर उन्होंने किसी पर भी कार्यवाही की हो, तो बता दीजिए। इसका मतलब यह है कि सरकार को कोई पीछे से चला रहा है।’’ इस सवाल पर कि आखिर पीछे से कौन सरकार चला रहा है, यादव ने कहा, 'उपमुख्यमंत्री का जो पत्र आया है कि किसके कहने से तबादले हुए हैं, लगता है, सरकार में कुछ ऐसी ताकतें है जो पीछे से ऑपरेट कर रही हैं।’’ 

गुजरात चुनाव से पहले केजरीवाल AAP की रणनीति के तहत हर हफ्ते करेंगे राज्य का दौरा 

गौरतलब है कि प्रदेश के उपमुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री बृजेश पाठक ने स्वास्थ्य विभाग में हाल में हुए तबादलों पर आपत्ति दर्ज करते हुए इस सिलसिले में सोमवार को विभाग के अपर मुख्य सचिव को पत्र लिखते हुए नाराजगी जताई थी और कहा था कि तबादलों में नियमों का पालन नहीं किया गया। आजमगढ़ और रामपुर लोकसभा के हाल में हुए उपचुनाव में प्रचार के लिए खुद के नहीं जाने का कारण स्पष्ट करते हुए यादव ने कहा, क्योंकि हमारी पार्टी संगठन के लोगों ने कहा कि आपको आने की जरूरत नहीं है, हम चुनाव जीत जाएंगे। हमें अपने पूरे संगठन और जनता पर भरोसा था, लेकिन यह नहीं पता था कि अधिकारी लोग वोट डालने के लिए निकलने ही नहीं देंगे, लालच देंगे, पैसा बंटवाएंगे, शराब के ट्रक जाएंगे।’’ यादव ने पार्टी के सदस्यता अभियान की शुरुआत करते हुए बताया कि सपा का सदस्यता अभियान लगातार चलता रहेगा। कोशिश होगी कि सपा गांवों में ज्यादा से ज्यादा पहुंचे, हर घर तक पहुंचे। उन्होंने कहा कि सपा कार्यकर्ता पार्टी की बात, पार्टी की नीतियों और कार्यक्रमों की जानकारी लेकर जनता के बीच रहेंगे। यादव ने कहा कि इस बात को लोगों तक पहुंचाने की जरूरत है कि लोकतंत्र बचाने के लिए समाजवादी पार्टी के लोग आगे आ रहे हैं, इसलिए इसमें सहयोग करें और इसके साथ जुड़ें। 

दिल्ली पुलिस ने माना- मोहम्मद जुबैर की जमानत याचिका पर मीडिया को दी गई गलत सूचना

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश, राजस्थान, तमिलनाडु, कर्नाटक और महाराष्ट्र समेत जहां-जहां भी सपा का संगठन है, वहां सदस्यता अभियान चलाया जाएगा।   यादव ने एक सवाल पर कहा कि पार्टी ने अभी यह तय नहीं किया है कि कितने सदस्य बनाए जाएंगे। सपा शहर, गांव और घर तक पहुंचने की कोशिश करेगी। उन्होंने कहा कि सदस्यता अभियान खत्म होने के बाद संगठन का पुनर्गठन होगा। सपा नेता आजम खां की पत्नी तजीन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा तलब किये जाने के बारे में पूछे गये एक सवाल पर यादव ने कहा, 'जब कांग्रेस केंद्र की सत्ता में थी तब वह अपने विपक्षियों पर ईडी और सीबीआई का इस्तेमाल करती थी।

आतंकी तालिब हुसैन शाह को लेकर कांग्रेस ने भाजपा पर बोला हमला, उठाए सवाल

आज भारतीय जनता पार्टी उसी के नक्शे कदम पर चल रही है। महाराष्ट्र में तो उन्होंने स्वीकार कर लिया कि वहां ईडी सरकार है। याद कर लीजिए कि मध्य प्रदेश में सरकार कैसे बनी और अन्य प्रदेशों में भी भाजपा ने कैसे सरकार बनाई।‘‘उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा अपनी सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिनों की उपलब्धियां गिनाये जाने के सवाल पर यादव ने कहा, 'सरकार की सबसे बड़ी उपलब्धि यह है कि यूपी दारोगा भर्ती में बहुत बड़े पैमाने पर धांधली हुई। पता लग गया कि स्क्रीन शेयर करके नकल हुई है। न जाने कितने लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। जो जेल में थे, वे भी भर्ती हो गये। हम इसे 100 दिन की उपलब्धि मानें या पांच साल 100 दिन की उपलब्धि मानें।’’ 


योगी सरकार का 100 दिन का कार्यकाल निराशाजनक : मायावती 
उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे होने पर बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमों मायावती ने मंगलवार को निशाना साधा हैं ।     बसपा नेता ने ट्वीट कर कहा, 'य़ूपी भाजपा सरकार ने 100 दिन के कार्यकाल का काफी जश्न मना लिया किन्तु गरीबी, बेरोजगारी, महंगाई आदि की ज्वलन्त समस्याओं को दूर करने, कानून-व्यवस्था बेहतर बनाने, सभी जाति व धर्मों में आपसी भाईचारा एवं साम्प्रदायिक सौहार्द पैदा करने के मामले में इनका कार्यकाल उदासीन व अति-निराशाजनक है।’’ गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने सोमवार को अपने दूसरे कार्यकाल के शुरुआती 100 दिनों में किए गए कार्यों का ‘रिपोर्ट कार्ड’ पेश किया था। मुख्यमंत्री ने अपने दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे होने पर यहां संवाददाता सम्मेलन में अपनी इस शुरुआती कार्य अवधि का ब्यौरा पेश करते हुए कहा था कि यह शुरुआती 100 दिन सेवा, सुरक्षा और सुशासन के प्रति समर्पित रहे। सरकार ने ‘जो कहा सो किया’ के इस परंपरागत अभियान को आगे बढ़ाते हुए निर्धारित लक्ष्य से ज्यादा काम किया है। 

उदयपुर हत्याकांड में जांच का दायरा बढ़ाए NIA : राजस्थान कांग्रेस 

  •  
comments

.
.
.
.
.