Saturday, Oct 31, 2020

Live Updates: Unlock 5- Day 31

Last Updated: Sat Oct 31 2020 03:22 PM

corona virus

Total Cases

8,139,081

Recovered

7,432,397

Deaths

121,699

  • INDIA8,139,081
  • MAHARASTRA1,672,858
  • ANDHRA PRADESH1,648,665
  • KARNATAKA820,398
  • TAMIL NADU722,011
  • UTTAR PRADESH480,082
  • KERALA425,123
  • NEW DELHI381,644
  • WEST BENGAL369,671
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • ODISHA290,116
  • TELANGANA238,632
  • BIHAR215,964
  • ASSAM206,015
  • RAJASTHAN195,213
  • CHHATTISGARH185,306
  • CHANDIGARH183,588
  • GUJARAT172,009
  • MADHYA PRADESH170,690
  • HARYANA165,467
  • PUNJAB133,158
  • JHARKHAND101,287
  • JAMMU & KASHMIR94,330
  • UTTARAKHAND61,915
  • GOA43,416
  • PUDUCHERRY34,908
  • TRIPURA30,660
  • HIMACHAL PRADESH21,577
  • MANIPUR18,272
  • MEGHALAYA8,677
  • NAGALAND8,296
  • LADAKH5,840
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,305
  • SIKKIM3,863
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,246
  • MIZORAM2,694
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
akhilesh yadav targets the yogi government in kanpur kidnapping murder case sohsnt

कानपुर किडनैपिंग मर्डर केस: लैब टेक्नीशियन मामले में चेतावनी के बावजूद निष्क्रिय रही सरकार- अखिलेश

  • Updated on 7/24/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कानपुर में लैब टेक्नीशियन के अपहरण और उसकी हत्या के मामले में योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि चेतावनी के बावजूद सरकार निष्क्रिय रही। उन्होंने पार्टी की ओर से मृतक के परिजन को पांच लाख रुपये देने का ऐलान किया।

कानपुर किडनैपिंग-मर्डर केस में CM योगी ने IPS सहित 4 अफसरों को किया निलंबित


सपा ने मृतक के परिवार को दी पांच लाख की मदद
अखिलेश ने ट्वीट कर कहा,'कानपुर से अपहृत इकलौते बेटे की मौत की खबर दुखद है। चेतावनी देने के बाद भी सरकार निष्क्रिय रही।' उन्होंने कहा, 'अब सरकार 50 लाख का मुआवजा दे। सपा मृतक के परिवार को पांच लाख की मदद देगी।'  अखिलेश ने कटाक्ष किया,'अब कहां है दिव्य-शक्ति सम्पन्न लोगों का भयोत्पादक प्रभा-मण्डल व उनकी ज्ञान-मण्डली।' उल्लेखनीय है कि पुलिस जांच में यह साफ हो गया है कि महीने भर पहले कथित तौर पर फिरौती के लिए अपहृत लैब टेक्नीशियन की उसके अपहर्ताओं ने हत्या कर दी है।

कानपुर किडनैपिंग मर्डर केस: संजय सिंह ने पुलिस को कहा नाकारा, फिरौती देने के बाद भी नहीं बची जान

फिरौती के बाद भी मार दिया गया युवक को

दरअसल, लैब असिस्टेंट संजीत यादव के अपहरण और हत्या का ये मामला कानपुर के बर्रा इलाके का है। जहां से संजीत यादव का अपहरण किया गया। घटना की जानकारी परिवार द्वारा पुलिस को दी गई। मामला तब सामने आया जब अगवा युवक को बचाने के लिए पुलिस के भरोसे में आकर परिवार ने फिरौती की रकम (30 लाख रुपए) अपहरणकर्ताओं को दे दी, लेकिन पुलिस युवक को बचाने में नाकाम साबित हुई, इस दोरान युवक की हत्या कर दी गई।

दिल्ली के कोविड केयर सेंटर में नाबालिग का यौन शोषण, दो गिरफ्तार

बहन ने पुलिसकर्मियों को ठहराया मौत का जिम्मेदार

इस मामले में संजीत यादव की बहन ने संबंधित पुलिस अफसरों को ही भाई की मौत के जिम्मेदार बताया है। वहीं पुलिस के बयान के मुताबिक संजीत के अपहरण की प्लानिंग उसके ही दोस्तों ने की थी। ऐसे में अब पुलिस इस मामले से जुड़े आरोपियों की गिरफ्तारी में लगी हुई है। अब तक दो आरोपियों को हिरासत में लिया गया है।

कर्ज में डूबे शख्स ने रची अपनी भतीजी के अपहरण की साजिश, दिल्ली पुलिस ने 24 घंटे में सुलझाया केस

संजीत की गला दबाकर की गई हत्या

परिवार को संजीत के छुड़ाने का भरोसा दिला चुकी पुलिस का अब कहना है कि 26 जून को संजीत यादव ने अपहरणकर्ताओं के चंगुल से भागने का प्रयास किया, उसी दौरान गला दबाकर उसकी हत्या की और 27 जून को संजीत का शव नहर में फेंक दिया। पुलिस ने ये बात हिरासत में लिए गए अरोपियों के जुर्म कबूल करने के बाद कही। आरोपियों का कहना है कि फिरौती मिलने के बाद वे उसे छोडने ही वाले थे अगर संजीत भागने का प्रयास नहीं करता तो वे उसे जिंदा छोड़ देते।
  

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.