Sunday, Oct 17, 2021
-->
Alert about fever, distribution of paracetamol tablets from house to house

बुखार को लेकर अलर्ट, घर-घर बंटवाई पैरासिटामोल की टेबलेट

  • Updated on 9/11/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जिले में बुखार के मरीज बढऩे के बाद स्वास्थ्य विभाग भी अलर्ट हो गया है। स्वास्थ्य विभाग की और से घर-घर सर्वे के दौरान मिलने वाले बुखार के मरीजों को पैरामसिटामोल की टेबलेट दी जा रही है। वहीं, स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार हालात काबू में हैं। 


 प्रतिदिन बुखार के मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है, वहीं डेंगू, मलेरिया व स्क्रब टाइफस के मरीज भी बढ़ रहे है। जहां बुखार और सीजनल बीमारियों की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग जिले में हाउस सर्वे अभियान चला रहा है। आशा और आगंनबाडी़ कार्यकर्ता घर-घर जाकर लोगों से उनके स्वास्थ्य की जानकारी ले रही है। प्रतिदिन 300 से अधिक बुखार के मरीज मिल रहे हैं। अब इन मरीजों को आशा कार्यकर्ता द्वारा पैरासिटामोल की टेबटेल देना शुरू कर दिया गया है। यदि कोई अधिक गंभीर है, उसे सीएचसी-पीएचसी पर जांच के लिए भेज रही हैं। सर्वे में सर्दी-जुकाम और टीबी के मरीजों की भी इस अभियान के तहत खोज की जा रही है। सीएमओ डॉ. भवतोष शंखधर का कहना है कि बारिश और बदलते मौसम से सीजनल वायरल बढ़ रहा है।

इसकी रोकथाम के भी प्रयास किए जा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग टीमें रोजाना लगभग एक लाख घरों में सर्वे कर रही हैं। इस दौरान जितने भी बुखार के मरीज मिलते हैं, उनकी रिपोर्ट विभाग को भेजी जाती है। मरीजों की मॉनिटरिंग भी की जा रही है। उन्हें घर पर ही पैरासिटामोल व अन्य दवाएं भी दी जा रही है। विभाग का प्रयास है कि बुखार का कोई भी मरीज ऐसा ना रहे, जिसे दवा ना मिले। डेंगू व मलेरिया की प्रतिदिन जांच की जा रही है।
 

स्क्रब टाइफस की जांच किट भी मंगवा ली
स्क्रब टाइफस के बढ़ते मामलों को देखते हुए विभाग ने अब 10 जांच किट भी मंगवा ली हैं। एक किट के जरिए 96 लोगों की जांच की जा सकती है। इसकी जांच महंगी होने के चलते अधिकांश लोग जांच नहीं करा पाते है। अब इसकी जांच विभाग द्वारा की जाएगी। 
------

comments

.
.
.
.
.