alka-lamba-and-kumar-vishwas-lashes-out-on-sadhvi-pragya-on-her-statement

साध्वी प्रज्ञा और BJP पर बरसे विश्वास-अलका, बोले-आतंक के आरोप में पुलिस रबड़ी नहीं खिलाती

  • Updated on 4/19/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। जब से भोपाल लोकसभा सीट (Bhopal Lok Sabha Seat) से बीजेपी ने अपना प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर (Sadhvi Pragya Singh Thakur) को चुना है तब से ही देश में सियासी भूचाल आ गया है। हाल ही में साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने मुंबई हमले में शहीद हुए हेमंत करकरे (Hemant Karkare) को लेकर विवादित बयान दिया था, जिसपर विपक्ष ने हमला बोला है।

दिल्ली की सत्ताधारी पार्टी आम आदमी पार्टी (AAP) के दो नेता कुमार विश्वास (Kumar Vishwas) और अलका लांबा (Alka Lamba) ने इस मसले पर हमला पर बोला है। दोनों ने ट्वीट कर प्रज्ञा के साथ-साथ भाजपा (BJP) पर भी निशाना साधा है। 

पार्टी से नाराज चल रही प्रियंका चतुर्वेदी ने कांग्रेस से दिया इस्तीफा

कुमार विश्वास ने ट्वीट कर लिखा कि मुम्बई आतंकी (Mumbai Blast) हमले में आतंकवादियों से सीधे भिडने वाले शहीद हेमंत करकरे (Hemant Karkare) के बलिदान को उसके कर्मों की सजा बता रही हैं भोपाल-प्रत्याशी। जो मंच पर बैठे हैं वो एक चुनावी हार-जीत के लिए, बेशर्मी से ताली बजा रहे हैं ? देश के लिए वर्दी में शहीद हो चुके एक सिपाही के साथ ये सलूक ?

वहीं अलका लांबा ने ट्वीट कर साध्वी को मानसिक रोगी करार दिया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा कि राष्ट्रवादियों की छाती नही फटी यह सब सुन कर, वो भी एक शहीद के लिये, सोचिए शहीद के परिवार तक अगर यह जहर जो बेल पर बाहर आई। प्रज्ञा द्वारा उगला गया है,पहुंच जाए तो कितनी पीड़ा-दुःख होगा शहीद हेमंत करकरे के परिवार को। डूब मरो संघियों-लानत है तुम्हारी ऐसी मानसिक रोगी उम्मीदवार पर।

उन्होंने एक और ट्वीट कर लिखा कि प्रज्ञा टीवी में आंसू बहा रही है, मुझे उल्टा लटका कर मारते थे। प्रज्ञा मैडम आतंक के आरोप में पुलिस रबड़ी नहीं खिलाती।

बता दें कि प्रज्ञा ने हेमंत करकरे पर आरोप लगाया कि उन्होंने मुझे गलत तरीके से फंसाया, मैंने उन्हें बताया था कि तुम्हारा पूरा वंश खत्म हो जाएगा। वो केवल अपने कर्मों की वजह से मरे हैं। प्रज्ञा ने आरोप लगाया कि हेमंत करकरे ने मेरे साथ काफी गलत तरीके से व्यवहार किया था और गलत तरीके से फंसाया था। 

जेट एयरवेज की सर्विस बंद होने से यात्री परेशान, दूसरी फ्लाइट्स के लिए करनी पड़ रही जेब ढीली

साध्वी प्रज्ञा ने आगे कहा, कि वो जांच अधिकारी सुरक्षा आयोग का सदस्य था, उन्होंने हेमंत करकरे को बुलाया और कहा कि साध्वी को छोड़ दो। लेकिन हेमंत करकरे ने कहा कि मैं कुछ भी करूंगा लेकिन सबूत लाउंगा और साध्वी को नहीं छोड़ूंगा।

साध्वी ने कहा कि मैंने उसे कहा था तेरा सर्वनाश होगा, उसने मुझे गालियां दी थीं। जिस दिन मैं गई तो उसके यहां सूतक लगा था और जब उसे आतंकियों ने मारा तो सूतक खत्म हुआ।

दूसरे चरण के चुनाव में वोट डालने पहुंचे ये दिग्गज नेता और सेलेब्रिटीज 

बता दें कि 26/11 हमले में आतंकियों की गोली का शिकार हुए थे हेमंत करकरे। मरणोपरांत हेमंत करकरे की शहादत को सलाम करते हुए उन्हें अशोक चक्र से सम्मानित किया गया था। इसके अलावा जिस केस में साध्वी प्रज्ञा आरोपी थीं, उस मालेगांव सीरियल ब्लास्ट (Malegaon Blast) की जांच भी इनके पास ही थी। हालांकि, उनकी चार्जशीट पर कई तरह के सवाल खड़े हुए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.