Saturday, Jul 20, 2019

राम-रहीम की पैरोल पर चुप क्यों है AAP? अलका लांबा ने बताई वजह

  • Updated on 6/28/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। हरियाणा (Haryana) में राम रहीम (Ram Rahim) की पैरोल (Parole) के मुद्दे पर चुप्पी साधने को लेकर चांदनी चौक से AAP की विधायक अलका लांबा (Alka Lamba) ने पार्टी पर तंज कसा है। उनका मानना है कि हरियाणा विधानसभा चुनाव द्वार पर हैं, यही कारण है कि राम रहीम की पैरोल के खिलाफ आम आदमी पार्टी का एक भी विधायक आवाज नहीं उठा रहा।

राम रहीम की पैरोल पर कुमार विश्वास का तंज- वो 'खेती' नहीं करेगा तो राजनेता ‘फसल’ कैसे काटेंगे?

'लानत है AAP की ऐसी सोच पर'

इसी मुद्दे पर अल्का लांबा ने ट्वीट कर लिखा है 'AAP विधायकों को हिदायत दी गई है कि कोई भी रामरहीम के मामले में कुछ भी नहीं बोलेगा, इसके साथ ही ये भी लिखा है कि कहा कि हरियाणा में राम-रहीम के काफी अनुयायी हैं, जो AAP के वोटर और समर्थक भी हैं। बुरा मान गए तो AAP को आगामी दिल्ली-हरियाणा चुनावों में भारी वोटों का नुकसान हो सकता है। लानत है AAP की ऐसी सोच पर।'

केजरीवाल ने केंद्रीय करों में मांगी अधिक हिस्सेदारी, जानें क्या है मामला

कुमार विश्वास ने भी किया था विरोध

इसके साथ ही कुमार विश्वास (Kumar Vishwas) के एक फैन ने उनकी रचित कविता का एक अंश ट्वीट किया है जो इस प्रकार है- 

'जिसके विरुद्ध था युद्ध उसे

हथियार बना कर क्या पाया?

जो शिलालेख बनता उसको

अख़बार बना कर क्या पाया?'

फैन ने ये भी लिखा है कि राम-रहीम की पैरोल पर सबसे पहले बिना किसी संकोच के निर्भीक सत्य कुमार विश्वास ने बोला था और हर बार की तरह सियासी गिद्ध अरविंद केजरीवाल वोट बैंक के लिए चुप हैं।

बता दें कि कवि कुमार विश्वास ने राम रहीम की पैरोल के खिलाफ ट्वीट कर लिखा था कि हत्या और बलात्कार का सिद्ध आरोपी राम-रहीम 'खेती' करने के लिए सरकारी-अनुमति पा कर जेल से बाहर आना चाहता है। इसके बाद उन्होंने कटाक्ष किया है कि चार महीने बाद चुनाव है। वो 'खेती' नहीं करेगा तो राजनेता 'फसल' कैसे काटेंगे?

राहुल गांधी बोले: पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को नहीं हुआ जवाबदेही का अहसास

आगामी विधानसभा चुनाव है चुप्पी का कारण

दोनों ही नेताओं का मानना है कि आगामी विधानसभा चुनावों के चलते AAP ने चुप्पी साधी हुई है। जो पार्टी भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़कर सत्ता में आई थी आज उसी को हथियार बनाकर एक बार फिर से सत्ता पर काबिज होने का रास्ता तलाश रही है।  

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.