Saturday, May 30, 2020

Live Updates: 66th day of lockdown

Last Updated: Fri May 29 2020 10:05 PM

corona virus

Total Cases

172,569

Recovered

81,842

Deaths

4,971

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA62,228
  • TAMIL NADU20,246
  • NEW DELHI17,387
  • GUJARAT15,944
  • RAJASTHAN8,158
  • MADHYA PRADESH7,645
  • UTTAR PRADESH7,170
  • WEST BENGAL4,813
  • ANDHRA PRADESH3,330
  • BIHAR3,185
  • KARNATAKA2,533
  • TELANGANA2,256
  • PUNJAB2,158
  • JAMMU & KASHMIR2,036
  • ODISHA1,660
  • HARYANA1,504
  • KERALA1,089
  • ASSAM881
  • UTTARAKHAND500
  • JHARKHAND470
  • CHHATTISGARH398
  • CHANDIGARH289
  • HIMACHAL PRADESH281
  • TRIPURA244
  • GOA69
  • MANIPUR55
  • PUDUCHERRY53
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MEGHALAYA21
  • NAGALAND18
  • ARUNACHAL PRADESH3
  • DADRA AND NAGAR HAVELI2
  • DAMAN AND DIU2
  • MIZORAM1
  • SIKKIM1
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
allahabad high court stayed hearing petition challenging prime minister narendra modi election

पीएम मोदी के चुनाव को चुनौती देने वाली याचिका पर टली सुनवाई

  • Updated on 7/17/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने वाराणसी से सांसद के तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्वाचन को चुनौती देने वाली एक याचिका पर सुनवाई बुधवार को टाल दी। यह चुनाव याचिका बीएसएफ से बर्खास्त तेज बहादुर यादव द्वारा दायर की गई है। यादव को समाजवादी पार्टी ने वाराणसी लोक सभा सीट से अपना उम्मीदवार घोषित किया था, लेकिन निर्वाचन अधिकारी द्वारा उनका नामांकन पत्र खारिज किए जाने से वह चुनाव नहीं लड़ सके थे। 

#BJP ने कुंवर प्रणव चैंपियन को दिखाया बाहर का रास्ता, लहराए थे हथियार

वाराणसी के जिला निर्वाचन अधिकारी ने यादव को यह प्रमाण पत्र जमा करने को कहा था कि उन्हें भ्रष्टाचार या बेईमानी की वजह से नहीं हटाया गया, लेकिन यह प्रमाण देने में विफल रहने पर एक मई, 2019 को उनका नामांकन पत्र खारिज कर दिया गया था। तेज बहादुर यादव ने अपनी चुनाव याचिका में आरोप लगाया है कि वाराणसी के निर्वाचन अधिकारी द्वारा गलत ढंग से उनका नामांकन पत्र खारिज किया गया है, जिसके परिणामस्वरूप वह लोकसभा चुनाव नहीं लड़ सके जो कि उनका संवैधानिक अधिकार है। 

बरखा दत्त ने कपिल सिब्बल की पत्नी के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत

उन्होंने अदालत से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वाराणसी से बतौर सांसद निर्वाचन अवैध घोषित करने का अनुरोध किया है। यादव ने दलील दी है कि चूंकि मोदी ने नामांकन पत्र में अपने परिवार के बारे में विवरण नहीं दिया है, इसलिए उनका नामांकन पत्र भी रद्द किया जाना चाहिए था जोकि नहीं किया गया। यादव के वकील धर्मेंद्र ने दलील दी कि उसके मुवक्किल का नामांकन पत्र खारिज करने से पहले उसे अपना पक्ष रखने का अवसर नहीं दिया गया।  

बिल्डरों पर 10 करोड़ रु का जुर्माना लगाने पर पुनर्विचार नहीं करेगी #NGT

इस याचिका में कुछ संशोधन करने की अनुमति मांगते हुए आज एक संशोधन याचिका दायर की गई जिसे अदालत ने मंजूर कर लिया। याचिकाकर्ता के वकील की दलील सुनने के बाद न्यायमूर्ति एम.के. गुप्ता ने इस मामले की अगली सुनवाई की तारीख 19 जुलाई तय की। इस बीच, समाजवादी पार्टी के नेता धर्मेंद्र यादव द्वारा दायर एक अन्य याचिका पर अदालत ने मामले की सुनवाई के लिए 21 अगस्त की तारीख तय की। धर्मेंद्र यादव ने संघमित्रा मौर्य के चुनाव को चुनौती दी है। अदालत ने मौर्य को नोटिस जारी किया है। 

दिल्ली में कानून-व्यवस्था को लेकर अमित शाह से मिले AAP सांसद

उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य की पुत्री संघमित्रा ने हाल ही में हुए लोकसभा चुनाव में बदायूं सीट से सपा के उम्मीदवार धर्मेंद्र यादव को शिकस्त दी थी। पूर्व सांसद धर्मेंद्र यादव ने इस याचिका में संघमित्रा के निर्वाचन को चुनौती देने के लिए मतगणना में अनियमितताओं सहित कई आधार गिनाए हैं।    

कर्नाटक विधानसभा अध्यक्ष ने अपने रोल को लेकर संविधान का दिया हवा
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.