Sunday, Oct 02, 2022
-->
allegation-of-parambir-singh-over-anil-desmukh-probed-retired-judge-kmbsnt

'100 करोड़ की उगाही' की होगी जांच, 'सामना' में वार पर अनिल देशमुख का पलटवार

  • Updated on 3/28/2021

नई  दिल्ली/टीम डिजिटल। महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) पर लगे वसूली के आरोपों की जांच होगी। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने पूरे मामले की जांच कराने का फैसला किया है। खुद अनिल देशमुख ने रविवार को  ये जानकारी दी। महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख के ख़िलाफ़ मुंबई के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने वसूली का आरोप लगाया था. 

परमबीर सिंह ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को चिठ्ठी लिखकर कहा था कि सचिन वाजे को गृह मंत्री अनिल देशमुख ने हर महीने 100 करोड़ रुपये वसूलने का टारगेट दिया था।  

अब इस मामले में उद्धव सरकार जांच करवाएगी। अनिल देशमुख ने खुद मीडिया को बताया कि उन्होंने स्वयं परमबीर के आरोपों की जांच कराने की मांग सीएम उद्धव ठाकरे से की थी। अनिल देशमुख पर लगे आरोपों की जांच हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज करेंगे। 

अनिल देशमुख मामले में NCP का तंज- परमबीर दिल्ली में किससे मिले हमें सब पता है

हाईकोर्ट में परमबीर सिंह
इससे पहले परमबीर सिंह इस पूरे मामले में जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचे थे। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने उनकी याचिका पर सुनवाई करने से इनकार कर दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि आपको मुंबई हाईकोर्ट जाना चाहिए।

इसके साथ ही कोर्ट ने ये भी कहा था कि मामला गंभीर है, लेकिन प्रोटोकॉल का पालन होना चाहिए। परमबीर सिंह ने इसके बाद मुंबई हाईकोर्ट में याचिका दायर की है।

परमबीर सिंह ने अपनी याचिका में मुंबई पुलिस कमिश्नर के पद  से अपने ट्रांसफर को चुनौती दी है। इसके साथ ही उन्होंने अनिल देशमुख मामले की जांच CBI से कराने  की अपील की है।

SC पहुंचे परमबीर सिंह, कहा- अनिल देशमुख के घर की CCTV फुटेज जब्त हो 

सामना में सलाह
इससे पहले शिवसेना के मुखपत्र सामना में एक लेख लिखकर महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख को सलाह दी गई। सामना में नसीहत दी गई है कि सचिन वाजे मामले में अनिल देशमुख को कैसा बर्ताव करना चाहिए।

सामना में लिखा है कि अनिल देशमुख को यह पद दुर्घटनावश मिल गया। जयंत पाटिल, दिलीप वलसे पाटील ने यह पद स्वीकार करने से मना कर दिया, इसके बाद एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने ये पद अनिल देशमुख को सौंपा था।
इस पद की एक  गरिमा है। गृहमंत्री ने अधिकारियों से बेवजह पंगा ले लिया। 

ये भी पढ़े:

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.