Tuesday, Oct 04, 2022
-->
along-with-development-eco-will-also-have-to-be-taken-care-of-uma-bharti-albsnt

विकास के साथ ही इको सिस्टम का भी रखना होगा ध्यानः उमा भारती 

  • Updated on 2/8/2021

हरिद्वार/ब्यूरो। पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने कहा कि उत्तराखंड के विकास के साथ ही यहां के इकोसिस्टम का भी ध्यान रखना होगा। यहां पर कोई भी कार्य करने से पहले यह समझना जरूरी है कि यहां के पहाड़ नए हैं।

अभी सुरंग में फँसे हैं करीब 35 लोग, सुरक्षित निकालने की कोशिशें जारी

उमा भारती सोमवार को हरिद्वार प्रवास पर थी। पत्रकारों की ओर से चमोली जिले में आई प्राकृतिक आपदा पर पूछे गए सवालों का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि पूरा देश आपदा की इस घड़ी में पूरा देश उत्तराखंड के साथ खड़ा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार ने भी उत्तराखंड को हर तरह के सहयोग का भरोसा दिलाया है। लेकिन उत्तराखंड के लिए यह बहुत बड़ी त्रासदी है।  ऐसी त्रासदी की भरपाई करना मुश्किल होता है।उन्होंने कहा कि करीब 4000 करोड रुपए के नुकसान की बात कही जा रही है।

UP में गंगा किनारे के इलाके में 1000 कि.मी. तक किया गया high alert, सरकार बनाए हुए है नजर

उन्होंने कहा कि 2013 में केदारनाथ त्रासदी के बाद  रवि चोपड़ा ओर चतुर्वेदी कमेटी बनाई  गई थी। जिसमे उत्तराखंड में विकास को लेकर कुछ बातें कही गई थी। रिपोर्ट में कहा गया था कि उत्तराखंड के पहाड़ नए हैं। यह पहाड़ दक्षिण की तरह मजबूत नहीं है। इनमें अक्सर भूस्खलन होता रहता है। 

चमोली अलर्ट: नंदाकिनी नदी के किनारे शिलासमुद्र ग्लेशियर में दरारें, कभी भी मचा सकती है तबाही

उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के पहाड़ों से आने वाले झरनों में अक्सर ग्लेशियर बन जाते हैं। कोई भी वैज्ञानिक इनके टूटने का पूर्वानुमान नहीं लगा सकता। वैज्ञानिक ग्लेशियर की उम्र तो बता सकते हैं लेकिन पहले से ही इनके टूटने के बारे में कोई पुख्ता जानकारी नहीं दे सकते। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड सीमावर्ती राज्य है। उत्तराखंड की सीमा तिब्बत से भी मिलती है और तिब्बत में चीन की गतिविधियां लगातार चलती रहती हैं। इसलिए उत्तराखंड में रोजगार के अवसरों के सृजन और पलायन को रोकने के कार्य  किए जाने जरूरी हैं लेकिन इसके साथ ही यहां के ईको सिस्टम का भी ख्याल रखना होगा।

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.