Wednesday, Jul 15, 2020

Live Updates: Unlock 2- Day 14

Last Updated: Tue Jul 14 2020 09:32 PM

corona virus

Total Cases

933,868

Recovered

590,455

Deaths

24,291

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA267,665
  • TAMIL NADU147,324
  • NEW DELHI115,346
  • GUJARAT43,723
  • UTTAR PRADESH39,724
  • KARNATAKA36,216
  • TELANGANA33,402
  • WEST BENGAL28,453
  • ANDHRA PRADESH27,235
  • RAJASTHAN24,487
  • HARYANA21,482
  • MADHYA PRADESH17,201
  • ASSAM16,072
  • BIHAR15,039
  • ODISHA13,737
  • JAMMU & KASHMIR10,156
  • PUNJAB7,587
  • KERALA7,439
  • CHHATTISGARH3,897
  • JHARKHAND3,774
  • UTTARAKHAND3,417
  • GOA2,368
  • TRIPURA1,962
  • MANIPUR1,593
  • PUDUCHERRY1,418
  • HIMACHAL PRADESH1,182
  • LADAKH1,077
  • NAGALAND771
  • CHANDIGARH549
  • DADRA AND NAGAR HAVELI482
  • ARUNACHAL PRADESH341
  • MEGHALAYA262
  • MIZORAM228
  • DAMAN AND DIU207
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS163
  • SIKKIM160
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
alternative academic calendar released for 11th 12th classes kmbsnt

11वीं-12वीं कक्षाओं के लिए वैकल्पिक अकादमिक कैलेंडर जारी, जानें क्या है इसमें खास

  • Updated on 6/3/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने उच्चतर माध्यमिक स्तर (कक्षा 11-12) के छात्र-छात्राओं की शैक्षणिक गतिविधियों को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए आज नई दिल्ली में राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) द्वारा बनाया गया वैकल्पिक अकादमिक कैलेंडर जारी किया।  इस कैलेंडर को बच्चों, अभिभावकों और शिक्षकों की मदद के लिए बनाया गया है ताकि बच्चे रुचिपूर्वक अर्थपूर्ण शिक्षा ग्रहण कर सकें। 

इस वैकल्पिक अकादमिक कैलेंडर को बनाते समय नई तकनीकों एवं सोशल मीडिया को तरजीह दी गयी है जिससे कि बच्चे घर पर आनंदपूर्वक और रुचिपूर्ण ढंग से पढ़ाई कर सकें। 

इस मौके पर मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने कहा कि इस कैलेंडर के माध्यम से अध्यायक विभिन्न तकनीकों और सोशल मीडिया प्लेटफार्म का प्रयोग करके घर से ही बच्चों को अभिभावकों की देख रेख में पढ़ा सकते हैं। हो सकता है कि कुछ लोगों के पास मोबाइल फोन पर या घर पर इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध ना हो और वो सोशल मीडिया का उपयोग ना करते हों ऐसे में इस वैकल्पिक कैलेंडर में अध्यापकों के लिए ये दिशानिर्देश भी हैं।

CBSE बोर्डः देश के 15 हजार केंद्रों पर होगी 10वीं और 12वीं की परीक्षा, जानिए क्यों?

इन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर करें पढ़ाई
वो विद्यार्थियों को मोबाइल पर एस.एम.एस भेजकर या फोन पर कॉल कर के उनका मार्गदर्शन करें। इंटरनेट सुविधा उपलब्ध होने की स्थिति में अध्यापक, अभिभावक और बच्चे व्हाट्सएप, फेसबुक, ट्वीटर, टेलीग्राम, गूगल मेल और गूगल हैंगऑउट द्वारा एक दूसरे से जुड़ सकते हैं और पढाई जारी रख सकते हैं।

इस कैलेंडर में कक्षा 11 से कक्षा 12 तक के सभी विषय शामिल किये गए हैं. इस कैलेंडर द्वारा सभी बच्चों जिनमें दिव्यांग भी शामिल हैं की सीखने की जरूरत का ध्यान रखा गया है। सभी बच्चों को ऑडियो बुक्स, रेडियो कार्यक्रमों, आदि के द्वारा संबोधित किया जायेगाय़

इस कैलेंडर को साप्ताहिक आधार पर जारी किया जायेगा। इस कैलेंडर की सबसे प्रमुख बात यह है कि इन गतिविधियों की मैपिंग छात्रों की सीखने के प्रतिफलों के साथ की गई है। इसके द्वारा अभिभावक और अध्यापक बच्चों की प्रगति पर भी नजर बनाये रखेंगे और पाठ्यपुस्तकों के अलावा भी बच्चों को नई चीज़ें सीखने के लिए प्रेरित करेंगे।

IPU ने की 'सेंटर फॉर एक्सीलेंस इन रोबोटिक्स प्रोसेस ऑटोमेशन' की स्थापना

योग को भी किया गया शामिल
इस कैलेंडर में अनुभव आधारित शिक्षा के लिए कला और शारीरिक शिक्षा के साथ साथ योग भी शामिल किया गया है। तनाव और चिंता को दूर करने के तरीके भी इस कैलेंडर में सुझाये गए हैं। फिलहाल इस कैलेंडर में चार भाषाओँ के विषयों को शामिल किया गया है- संस्कृत, उर्दू, हिंदी और अंग्रेजी। इस वैकल्पिक कैलेंडर में ई-पाठशाला, एनआरओईआर और दीक्षा पोर्टल पर अध्यायवार उपलब्ध सामग्री को भी शामिल किया गया है।

आदेश नहीं ये सुझाव है
केंद्रीय मंत्री ने इस कैलेंडर पर उपलब्ध गतिविधियों के बारे में कहा कि सभी गतिविधियां सुझाव के तौर पर शामिल की गयी है। न कि किसी आदेश की तरह थोपी गई हैं। इस क्रम में किसी के ऊपर कोई बाध्यता नहीं है। अध्यापक और अभिभावक बिना क्रम पर ध्यान दिए विद्यार्थियों की रूचि वाली गतिविधि का चयन कर सकते हैं।

UGC का आदेश देश के 127 संस्थान अपने नाम में ना जोड़े यूनिवर्सिटी, हो सकती है कार्यवाई

इन चैनलों पर इंटरेक्टिव सत्र शुरू
ठएनसीईआरटी ने टीवी चैनल स्वयं प्रभा (किशोर मंच) (फ्री डीटीएच चैनल #128, डिश टीवी चैनल # 950, सनडायरेक्ट # 793, जिओ टीवी, टाटा स्काई # 756, एयरटेल चैनल # 440, वीडियोकॉन चैनल # 477), किशोर मंच एप (प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है) और यूट्यूब लाइव (एनसीईआरटी आधिकारिक चैनल) के माध्यम से छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों के साथ लाइव इंटरेक्टिव सत्र शुरू कर दिया है।  

सोमवार से शनिवार इन सत्रों का प्रसारण प्रातः 10:30 बजे से दोपहर 12 बजे तक प्राथमिक कक्षाओं के लिए, दोपहर 12 बजे से अपराह्न 1:30 बजे तक उच्च प्राथमिक कक्षाओं के लिए, सुबह 9:30 बजे से 10:30 बजे तक माध्यमिक स्तर के लिए और अपराह्न 2:30 बजे से अपराह्न 4 बजे तक उच्चतर माध्यमिक स्तर के लिए किया जायेगा। दर्शकों के साथ बातचीत करने के अलावा, इन लाइव सत्रों में विषयों के शिक्षण के साथ-साथ शारीरिक गतिविधियां भी दिखाई जा रही हैं।

DU के 85 प्रतिशत छात्र ओपन बुक एग्जाम के खिलाफ, जानें क्या है कारण

कार्यक्रम प्रसारण में इन संस्थाओं का मिला साथ
इस कैलेंडर को एससीईआरटी, राज्य स्कूल शिक्षा विभाग, स्कूल शिक्षा बोर्ड्स, केन्द्रीय विद्यालय संगठन, नवोदय विद्यालय समिति, इत्यादि संस्थाओं के साथ विडियो कॉन्फ्रेंसिंग और डीटीएच चेनलों द्वारा प्रसारित और प्रचारित किया जायेगा।

यह विद्यार्थियों, शिक्षकों, अभिभावकों और स्कूल के प्राचार्यों को सशक्त करेगा, ऑनलाइन संसाधनो का उपयोग कर सकारात्मक तरीकों से कोविड-19 की चुनौतियों का सामना करने में तथा बच्चो को घर पर ही उत्तम शिक्षा उपलब्ध करवाने में मदद करेगा।

इसके पहले प्राथमिक स्तर (कक्षा 1 से 5), उच्च प्राथमिक स्तर (कक्षा 6 से 8) और माध्यमिक स्तर (कक्षा 9-10) के छात्रों के लिए ये कैलेंडर पहले ही जारी किया जा चुका है।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

comments

.
.
.
.
.