Sunday, Sep 19, 2021
-->
alwar pahlu khan rajasthan suprme court jaipur

पहलू खान लिचिंग मामले में दोषी नाबालिगों की सजा को लेकर फैसला स्थगित

  • Updated on 3/7/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। अलवर (Alwar) के किशोर न्याय बोर्ड ने 2017 में भीड़ द्वारा पहलू खान (Pahlu khan) की पीट-पीट कर की गई हत्या के मामले में दोषी दो नाबालिगों की सजा संबंधी फैसले को शनिवार को स्थगित कर दिया। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘बोर्ड ने आज फैसला स्थगित कर दिया।’ 
कोरोना संकट: PM मोदी के बाद UP की गर्वनर आनंदीबेन पटेल ने निरस्त किया होली मिलन समारोह

अगली तारीख में फैसला सुनाए जाने की संभावना 
अदालत द्वारा तय अगली तारीख पर फैसला सुनाए जाने की संभावना है। किशोर न्याय बोर्ड ने इस मामले में दो नाबालिगों को गुरुवार को दोषी करार दिया था। इस मामले में यह पहली दोष सिद्धि है। पिछले साल अगस्त में अलवर की निचली अदालत ने मामले में छह आरोपियों को बरी कर दिया था।  
चर्चित पहलू खान केस में सभी आरोपी को मिली क्लीन चिट, फैसले को उपरी अदालत में दी जाएगी चुनौती

संदेह का लाभ देकर किया गया बरी   
निचली अदालत ने आरोपियों विपिन यादव, रवींद्र कुमार, कालूराम, दयानंद, योगेश कुमार और भीम राठी को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया था जिसके खिलाफ राज्य सरकार ने अक्टूबर में उच्च न्यायालय (Supreme Court) का दरवाजा खटखटाया था।
निर्भया कांडः 20 मार्च तक रोजाना किया जाएगा दोषियों का वजन, जानिए क्या है वजह

1 अप्रैल 2017 को हुआ हादसा
उल्लेखनीय है कि एक अप्रैल 2017 को पहलू खान, उसके दो बेटे और कुछ अन्य लोग जयपुर (Jaipur) से कुछ गायों को ला रहे थे, तब अलवर के बेहरोर में कथित गोरक्षकों ने उन्हें रोका और उनकी पिटाई की। घायल खान की तीन अप्रैल 2017 को अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी।    

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.