Thursday, Mar 21, 2019

सांसद अमर सिंह बोले-पूर्ण बहुमत से बनेगी मोदी सरकार

  • Updated on 3/15/2019

हरिद्वार/ब्यूरो। धर्मनगरी आए राज्यसभा सांसद और वरिष्ठ नेता अमर सिंह ने अपने चुनाव लड़ने की अटकलों पर विराम लगा दिया है। उन्होंने कहा कि वे कहीं से चुनाव नहीं लड़ेंगे। देश में राष्ट्रवाद की बाढ़ है। छोटे-मोटे तिनके कब बह जायेंगे, पता भी नहीं लगेगा। देश को समझने की जरूरत है कि देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से बेहतर कोई विकल्प हो ही नहीं सकता।

जो लोग एयर स्ट्राइक का सुबूत मांग रहे हैं, वे यह जान लें कि पहली बार भारत ने एलओसी क्रॉस कर बमबारी की। यह देश के शक्तिशाली होने का प्रमाण है। आतंकी लादेन को अमेरिका ठोक सकता है, तो वह काबिलियत अब भारत में भी है। वह पाकिस्तान में जाकर आतंकी मसूद अजहर को मार गिरा सकता है। 

केजरीवाल के बाद कांग्रेस ने शिवपाल का तोड़ा दिल, कुछ इस तरह बयां किया अपना दर्द

अमर सिंह शुक्रवार को धर्मनगरी में गंगा स्नान के बाद पत्रकारों से कुछ पलों के लिए रूबरू हुए। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान का नया समर्थक चीन है। अमेरिका नहीं, भारत ने अपनी कूटनीति से यह विश्व स्तर पर साबित कर दिया है। इसे समझने की जरूरत है। चीन का आर्थिक, सामरिक मुकाबला करने वाला भारत है। 

एयर स्ट्राइक को लेकर पूछने पर कहा कि जो लोग प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कूटनीति को विफल बता रहे हैं, उन्हें यह समझने की जरूरत है कि आखिर पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय टीम को वहां जाने से क्यों रोका रहा है यानि चोर की दाढ़ी में तिनका है। हमने घुसकर मारा, यही काफी है। कहा कि शहादत की जहां तक बात है जो सवाल उठा रहे हैं, वह बताएं कि क्या इन्दिरा गांधी और राजीव गांधी की शहादत का कांग्रेस को राजनीतिक लाभ नहीं मिला। 

मोदी की विदेश नीति पर ऊंगली उठाने वालों को सुषमा ने लताड़ा

2019 में पूर्ण बहुमत से मोदी की सरकार बनेगी। महागठबंधन है कहां। प्रियंका प्रतिभाशाली है लेकिन बारिश के पानी के ठहराव के लिए संयंत्र चाहिए और वह संगठन होता है और संगठन है कहां। राहुल के सवाल पर उन्हें नसीहत देते हुए बोले कि पहले उसकी तहकीकात कर लें। उनका सम्मान करता हूं, लेकिन प्रधानमंत्री के लिए उपयुक्त मोदी ही हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.