Monday, Sep 26, 2022
-->
amarinder claims message from pakistan had come to make congress sidhu minister rkdsnt

अमरिंदर ने सिद्धू को लेकर किया बड़ा दावा, कांग्रेस ने किया पलटवार

  • Updated on 1/24/2022

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सोमवार को दावा किया कि कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को मंत्री बनाने के लिए उनके पास पाकिस्तान से संदेश आया सिद्धू वर्तमान में कांग्रेस की पंजाब इकाई के अध्यक्ष हैं। दोनों नेताओं के बीच विवाद गहराने के बाद अंतत: अमरिंदर को पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था। इसके बाद कांग्रेस ने एक दलित चेहरे को आगे करते हुए चरणजी सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री पद की कमान सौंपी। 

पंजाब चुनाव : भाजपा अध्यक्ष ने गठबंधन को लेकर किया सीट बंटवारे का ऐलान

 

बाद में कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद अमरिंदर सिंह ने पंजाब लोक कांग्रेस का गठन कर लिया था। आगामी पंजाब चुनाव के मद्देनजर भाजपा का पंजाब लोक कांग्रेस और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुखदेव सिंह ढींढसा के नेतृत्व वाले शिरोमणि अकाली दल (संयुक्त) के साथ गठबंधन हुआ है। अमरिंदर और ढींढसा की मौजूदगी में भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने पार्टी मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में तीन दलों के बीच सीटों के तालमेल की घोषणा की। 

मोबाइल फोन निर्माण से जुड़े मामलों में दखल नहीं देगा दूरसंचार विभाग : अश्विनी वैष्णव

इसके बाद पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए अमरिंदर सिंह ने कहा, ‘‘...मैं पाकिस्तान की बात कर रहा हूं...पाकिस्तान से यह मैसेज आया कि मुझे कि प्राइम मिनिस्टर (पाकिस्तान के) ने एक रिक्वेस्ट भेजा है, अगर आप सिद्धू को अपनी कैबिनेट में ले सकते हैं तो मैं आपका आभारी रहूंगा... वह मेरा पुराना दोस्त है... और अगर वह काम नहीं करेगा तो निकाल देना।’’ 

पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव को लेकर केजरीवाल ने की दिल्ली की जनता से अपील

सिंह ने यह आरोप भी लगाया कि वर्ष 2017 में राज्य का मुख्यमंत्री बनने के बाद जब उन्होंने सिद्धू को अपनी कैबिनेट में शामिल किया था, तब वह कुछ काम नहीं करते थे, इसलिए उन्हें पद से हटा दिया गया था। अमरिंदर ने कहा, ‘‘मैंने सिद्धू को पद से हटाया क्योंकि वह इंकम्पीटेंट (अक्षम), यूजलेस (बेकार) था। 70 दिन में उसने एक फाइल पूरी नहीं की थी।’’ पूर्व मुख्यमंत्री ने दावा किया कि इसके बाद भी जब सिद्धू के रवैये में कोई सुधार नहीं हुआ तो उन्हें हटाना पड़ा।      उन्होंने कहा कि इसके बाद उन्हें मंत्री बनाने के लिए पाकिस्तान से संदेश आया था। 

सिद्धू को लेकर अमरिंदर का दावा शर्मनाक : कांग्रेस 
कांग्रेस ने नवजोत सिंह सिद्धू को मंत्री बनाने के लिए पाकिस्तान से संदेश आने संबंधी पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के दावे को ‘शर्मनाक’ करार देते हुए कहा कि वह चुनाव से पहले असली मुद्दों से ध्यान भटकाने की कोशिश कर रहे हैं। पार्टी प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने यह सवाल भी किया कि अगर पाकिस्तान से कोई सिफारिश आई थी, तो उस वक्त अमरिंदर सिंह ने क्या कदम उठाया था? सुप्रिया ने अमरिंदर सिंह के बयान के बारे में पूछे जाने पर संवाददाताओं से कहा, ‘‘अमरिंदर सिंह हमारे बड़े नेता रहे, लेकिन वह जिस तरह की बात कर रहे हैं, मुझे लगता कि वो शर्मनाक है। वह एक संवैधानिक पद पर रह चुके हैं, चुने हुए मुख्यमंत्री थे। इस तरह की बातें करना गलत है। अगर ऐसा था तो उन्होंने क्या किया, ये सवाल उनसे बनता है। उन्हें सुर्खियां बटोरना, खबरों में बने रहना है। यह सब बेकार के मुद्दे हैं।’’ 

उद्धव ठाकरे बोले- BJP का अवसरवादी हिंदुत्व बस सत्ता के लिए है, NDA सिकुड़ा

उन्होंने यह भी कहा, ‘‘ आज पंजाब में मुद्दा किसानों का है। आज पंजाब में मुद्दा एमएसपी का है। आज पंजाब में मुद्दा बेरोजगारी का होगा। इस तरह के मुद्दों से सिर्फ ध्यान भटकाया जा सकता है, जो वो कर रहे हैं।’’ पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सोमवार को दावा किया कि कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को मंत्री बनाने के लिए उनके पास पाकिस्तान से संदेश आया था। उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘...मैं पाकिस्तान की बात कर रहा हूं...पाकिस्तान से यह मैसेज आया कि मुझे (पाकिस्तान के) प्राइम मिनिस्टर ने एक रिक्वेस्ट भेजा, अगर आप सिद्धू को अपनी कैबिनेट में ले सकते हैं तो मैं आपका आभारी रहूंगा... वह मेरा पुराना दोस्त है... और अगर वह काम नहीं करेगा, तो निकाल देना।’’ 

मोदी सरकार की ‘आर्थिक महामारी’ के शिकार बने गरीब, बजट से दूर करें असमानता : कांग्रेस

सिद्धू वर्तमान में कांग्रेस की पंजाब इकाई के अध्यक्ष हैं। दोनों नेताओं के बीच विवाद गहराने के बाद अंतत: अमरिंदर को पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था। इसके बाद कांग्रेस ने एक दलित चेहरे को आगे करते हुए चरणजीत सिंह चन्नी को मुख्यमंत्री पद की कमान सौंपी।  मुख्यमंत्री पद से हटने के बाद सिंह ने कांग्रेस से इस्तीफा दिया और पंजाब लोक कांग्रेस का गठन कर लिया। आगामी पंजाब चुनाव के मद्देनजर भाजपा का पंजाब लोक कांग्रेस और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुखदेव सिंह ढींढसा के नेतृत्व वाले शिरोमणि अकाली दल (संयुक्त) के साथ गठबंधन हुआ है। 

comments

.
.
.
.
.