Wednesday, May 12, 2021
-->
amit malviya asked on farmers protest said why dont you protest against punjab govt pragnt

पंजाब में कान्ट्रैक्ट फॉर्मिंग में किसानों के लिए जेल, BJP ने पूछा- क्यों नहीं करते आंदोलन

  • Updated on 2/6/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। केंद्र के नए कृषि कानूनों (Farm Laws) के खिलाफ दिल्ली बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन 75वें दिन भी जारी है। इसी कड़ी में किसान संगठनों ने आज दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक राष्ट्रव्यापी चक्का जाम (Chakka Jam) का आह्वान किया था। इस बीच बीजेपी नेता अमित मालवीय (Amit Malviya) ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि किसान पंजाब सरकार के खिलाफ प्रदर्शन क्यों नहीं करते हैं। मालवीय ने पूछा कि पंजाब सरकार ने कॉन्ट्रैक्ट फॉर्मिंग के कानून बनाए हैं जिसमें जेल भेजने और जुर्माने का प्रावधान है, लेकिन पंजाब सरकार के खिलाफ प्रदर्शन क्यों नहीं किया जा रहा है।

शशि थरूर के पुराने ट्वीट पर जावड़ेकर का पलटवार, कहा- किसानों को लेकर दोहरा सोचती है कांग्रेस

पंजाब के खिलाफ प्रदर्शन क्यों नहीं- अमित मालवीय
बीजेपी आईटी सेल के हेड अमित मालवीय ने ट्वीट कर लिखा, 'पंजाब सरकार द्वारा लागू अनुबंध कृषि कानून में 1 महीने की जेल और 5 लाख जुर्माने का प्रावधान है, अगर किसान अपनी प्रतिबद्धता पर कायम रहता है। केंद्र द्वारा बनाए गए कानूनों में किसान के खिलाफ कोई दंडात्मक प्रावधान नहीं है। इस तरह के कठोर प्रावधानों के खिलाफ कभी कोई किसान विरोध नहीं करता है?'

बता दें कि कृषि कानूनों के विरोध में चल रहे आंदोलन के तहत आज किसानों ने दिल्ली, यूपी और उत्तराखंड को छोड़कर देश के अन्य राज्यों में 'चक्का जाम' किया। एक किसान मोर्चा की तरफ से बताया गया कि दिल्ली की सीमाओं पर शांतिपूर्वक आंदोलन चलेगा।

चक्का जाम: सुरक्षा घेरे में लाल किला! भारी संख्या में पुलिसबल तैनात, बैरिकेडिंग के ऊपर कंटीले तार

राष्ट्रीय और राज्य हाईवे पर यातायात रोका जाएगा
बता दें कि चक्का जाम के तहत देश में राष्ट्रीय और राज्य हाईवे पर यातायात रोका जाएगा। मोर्चा के डॉक्टर दर्शन पाल की ओर से चक्का जाम को लेकर दिशा-निर्देश भी जारी किए गए हैं। 3 घंटे के चक्का जाम में दोपहर 3:00 बजे वाहनों के हॉर्न 1 मिनट तक बजाए जाएंगे, इसके बाद जाम समाप्त कर दिया जाएगा।

महंगाई को लेकर केंद्र पर भड़के राहुल गांधी, कहा- बिगाड़ दिया देश और घर का बजट

तैयार है दिल्ली पुलिस
चक्काजाम के दौरान किसी तरह की अप्रिय घटना ना हो इसके लिए दिल्ली पुलिस ने चाक चौबंद तैयारी की है। रेलवे व मेट्रो भी पूरी तरह से सतर्क है। आवश्यकता पड़ने पर दिल्ली मेट्रो के प्रभावित स्टेशनों में प्रवेश और निकासी द्वार को बंद किया जा सकता है।

टिकैत ने बताया किसान आंदोलन को लंबा चलाने का नया फार्मूला, कही ये बात

आवश्यक सेवाओं को नहीं रोका जाएगा
राष्ट्रीय और राज्य राजमार्गों को दोपहर 12:00 से 3:00 बजे तक जाम किया जाएगा। इस दौरान इमरजेंसी और आवश्यक सेवाओं जैसे एंबुलेंस, स्कूल बस आदि सेवाओं को नहीं रोका जाएगा। चक्का जाम शांतिपूर्ण और अहिंसक होगा। मोर्चा की तरफ से निर्देश दिए गए हैं कि प्रदर्शनकारी चक्का जाम के दौरान किसी भी अधिकारी कर्मचारी या आम नागरिक के साथ संघर्ष ना करें।

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.