Tuesday, Feb 18, 2020
amit shah bjp challenge arvind kejriwal aap to sit in shaheen bagh protests against caa

अमित शाह ने केजरीवाल को दी शाहीन बाग प्रदर्शन में धरना देने की चुनौती

  • Updated on 1/28/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा और सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी के बीच सियासी जंग तेज हो गई है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जहां अपने कामों पर वोट मांग रहे हैं, वहीं केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भाजपा की प्रचार कमान संभालते हुए आम आदमी पार्टी को घेरना शुरू कर दिया है। 

शाहीन बाग प्रदर्शन: शरजील इमाम के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने पर दिल्ली में भी FIR

दिल्ली चुनाव में अब सीएए के खिलाफ शाहीन बाग का प्रदर्शन भी दस्तक दे चुका है। इसको लेकर भी सियासत गर्म हो गई है। केजरीवाल ने जहां कानून व्यवस्था के लिए केंद्र की मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है, वहीं अमित शाह ने दिल्ली के सीएम केजरीवाल को शाहीन बाग प्रदर्शन में धरने देने की चुनौती है। 

भारत के #CAA के खिलाफ प्रस्ताव पर यूरोपीय संसद में होगी बहस

अर्थशास्त्री अभिजीत बनर्जी बोले- दबाव में हैं बैंक, मदद करने की स्थिति में नहीं है मोदी सरकार

दिल्ली की चुनावी सभा में अमित शाह ने कहा है कि दिल्लीवासियों को 8 फरवरी के दिन केजरीवाल सरकार बदल देना है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल ने 5 सालों में सिर्फ झूठे वादे किए हैं। उन्होंने कहा कि केजरीवाल को शाहीनबाग में जाकर धरना शुरू करना चाहिए। 

दिल्ली चुनाव : केजरीवाल ने वीडियो जारी कर अमित शाह पर बोला हमला 

उधर, केजरीवाल ने भी अमित शाह को आड़े हाथ लिया है। एक न्यूज टीवी कार्यक्रम में दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने कहा कि सीएए और एनआरसी को केंद्र की मोदी सरकार ने लागू किया है। इसके विरोध में शाहीनबाग में विरोध-प्रदर्शन हो रहा है। इसकी वजह से रोड बंद हो गया है। ऐसे में अमित शाह को कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए सीधे शाहीनबाग के प्रदर्शनकारियों से वार्ता करनी चाहिए। 

कांग्रेस का सवाल- सनाउल्लाह ‘घुसपैठिया’, पाक अफसर के बेटे सामी को पद्मश्री क्यों?

बता दें कि आज अमित शाह ने भाजपा दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी के साथ पूर्वी दिल्ली में चुनावी रोड शो किया। इस दौरान जय श्रीराम के नारे भी सुनने को मिले। सियासी पंडितों का मानना है कि शाहीनबाग मुद्दे को उछालकर भाजपा दिल्ली चुनाव में हिंदू-मुस्लमान करना चाहती है। भाजपा की ओर से भाजपा शासित एमसीडी और डीडीए के कामों को कम ही जिक्र किया जा रहा है।

comments

.
.
.
.
.