Sunday, Feb 18, 2018

हरियाणा: शाह की रैली से पहले NGT का नोटिस, सरकार ने केंद्र से की सुरक्षा बलों की मांग

  • Updated on 2/9/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष व राज्यसभा सांसद अमित शाह 15 फरवरी को हरियाणा में एक रैली को संबोधित करने वाले हैं, लेकिन उससे पहले ही विवाद शुरू हो गया है। दरअसल, एक शख्स ने इस सभा के खिलाफ राष्ट्रीय हरित अधिकरण (NGT) में शिकायात की थी, जिसके बाद NGT की तरफ से केंद्र और हरियाणा सरकार को नोटिस भेजा गया है और 13 फरवरी तक इसपर जवाब मांगा है। 

विरोध पर अड़े रहे तो शाह की रैली से पहले हो सकती है जाट नेताओं की गिरफ्तारी

NGT में याचिकाकर्ता ने अपनी याचिका में कहा है कि इस रैली में इस्तेमाल किए जाने वाले मोटरसाइकिलों की संख्या कम की जाए। माना जा रहा है कि इस रैली में एक लाख बाइकर्स हिस्सा लेंगे। यहां तक की अमित शाह भी खुद बाइक से सभा में शामिल होने आएंगे। वहीं अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति (AIJASS) ने इसका विरोध करने का फैसला लिया है।

कर्नाटक चुनाव के लिए भाजपा ने कसी कमर, इस तरह कांग्रेस को सबक सिखाएंगे जावड़ेकर

वहीं जाटों द्वारा विरोध किए जाने की बात सुनकर खट्टर सरकार के हाथ-पांव फूल गए हैं, जिसके चलते सीएम खट्टर ने अमित शाह की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए केंद्र से केंद्रीय सशस्‍त्र पुलिस बल (CAPF) की 150 कंपनियां मांगी हैं। बता दें कि जाट अपनी मांग को लेकर लगातार बीजेपी सरकार के खिलाफ विरोध करते रहे हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.