Thursday, Jan 23, 2020
amit shah was seen fighting punches at the kite festival in ahmedabad

अहमदाबाद के पतंग महोत्सव में पेंच लड़ाते नजर आए गृहमंत्री अमित शाह

  • Updated on 1/15/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश के गृहमंत्री अमित शाह मंगलवार यानि आज अहमदाबाद (Ahmedabad) में उत्तरायन के एक कार्यक्रम में पतंग उड़ाते नजर आये। इस दौरान शाह की पतंगबाजी देखने के लिये बड़ी संख्या में लोग एकत्रित हुए। लोगों ने इस दौरान नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में भी नारे लगाए।

 

संशोधित नागरिकता कानून के पक्ष और विपक्ष में चल रही वैचारिक लड़ाई मकर संक्रांति के अवसर पर गुजरात के आकाश में भी देखने को मिली जब लोगों ने पतंग पर सीएए के समर्थन में' और सीएए के विरोध में' लिखकर एक दूसरे के पेंच काटे। ऐसी पतंग उड़ाने में स्थानीय नेता, कांग्रेस और भाजपा के समर्थक, नागरिक संस्थाओं के लोग और सामान्य नागरिक भी शामिल थे। सीएए के समर्थन और विरोध में छपे संदेश वाली हजारों पतंग राज्य में वितरित की गयी थी।

नागरिक संस्थाओं के लोगों ने छात्रों और आम लोगों को भारत सीएए के विरोध में' े नहीं, एनआरसी नहीं', संविधान बचाओ, भारत बचाओ', दू मुस्लिम भाई भाई',एनआरसी सीएए बाय बाय' के नारों वाली पतंग बांटी। राजकोट के एक भाजपा नेता ने कहा कि उन्होंने शहर में सीएए के समर्थन में' लिखी हुई पचास हजार पतंग बांटी। मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने अहमदाबाद के खोखरा में स्थित एक आवासीय परिसर में मकान की छत पर सीएए के समर्थन का संदेश लिखी पतंग उड़ाई।

उन्होंने कहा, जीवन में भी पतंग की भांति उड़ना चाहिए और नई ऊंचाई हासिल करनी चाहिए। गुजरात एक प्रगतिशील राज्य है और हम पतंग की तरह आकाश में प्रगति की ऊँची उड़ान हासिल करते रहेंगे।' भाजपा के समर्थक और स्थानीय लोगों ने हाथ में तख्तियां लेकर आने जाने वालों से सीएए के समर्थन में एक फोन नंबर पर मिस कॉल देने का आग्रह किया

भाजपा कार्यकर्ता सीएए के समर्थन वाली टी शर्ट पहने दिखाई दिए और कांग्रेस नेताओं ने पतंग पर लिखे संदेश के जरिये महंगाई, बेरोजगारी, अपराध, सीएए और एनआरसी जैसे मुद्दों पर सरकार की आलोचना की।  विधानसभा में विपक्ष के नेता परेश धानाणी ने कहा, मंहगाई, आर्थिक मंदी, बेरोजगारी, महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराध आज गुजरात के प्रमुख मुद्दे हैं।

हमें उम्मीद है कि उत्तरायण के अवसर पर हम जो पतंग उड़ा रहे हैं वह लोगों का दर्द अपने साथ ले जाएगी और इन राक्षसों का अंत कर देगी।' इस बीच अहमदाबाद के संवेदनशील क्षेत्रों में पुलिस ने गश्त लगाई। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ) और राज्य रिजर्व पुलिस बल (एसआरपीएफ) की टीमों को भी अहमदाबाद में सड़कों पर तैनात किया गया था। वड़ोदरा में पुलिस ने संवेदनशील इलाकों में फ्लैग मार्च किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.