Monday, Oct 22, 2018

आम्रपाली बिल्डर्स को सुप्रीम कोर्ट से झटका, 15 दिन की बढ़ाई पुलिस हिरासत

  • Updated on 10/11/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। आम्रपाली ग्रुप के निदेशकों की मुसीबत दिन प्रतिदिन बढ़ती हुई जा रही है। गुरुवार को मामले की सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने एक और बड़ा झटका देते देते हुए 15 दिन की पुलिस हिरासत बढ़ा दी गई है। इस बार आम्रपाली के तीनों निदेशक अनिल शर्मा, शिवप्रिया व अजय कुमार का दशहरा पुलि, हिरासत में ही मनेगा। इसके अलावा चेतावनी भी दी है कि ये बिल्डर फॉरेंसिक ऑडिट संबंधी सभी दस्तावेज उपलब्ध नहीं कराता है तो तीनों निदेशकों को इस बार जेल में भी जाना पड़ सकता है।

राजधानी में हुई सियासी उठा-पटक से लेकर जुर्म तक, पढ़ें दिल्ली की बड़ी खबरें

सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि इन तीनों निदेशक को पुलिस की निगरानी मे रहकर अपने ग्रुप की 46 कंपनियों के दस्तावेज़ों का केटलाग तैयार करके फ़ारेंसिक आडिटर्स को सौंपेंने होंगे। वे रोज़ सुबह 8 से शाम 6 बजे तक दस्तावेज़ों का केटलाग बनवाएँगे। इसके बाद पुलिस निगरानी मे नोएडा के सेक्टर-62 स्थित होटल मे रहेंगे। इससे पहले भी सुप्रीम कोर्ट पहले भी बिल्डर को जेल भेजने की चेतावनी दे चुका है।

सीलिंग पर SC ने LG को लगाई फटकार, कहा- 15 दिन में बंद हो रिहायशी इलाकों में चल रही फैक्ट्रियां


आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर इन तीनों को पुलिस हिरासत में ले लिया गया था। आम्रपाली समूह के निदेशकों अनिल शर्मा, शिवप्रिया और अजय कुमार को लेकर बुधवार देर रात पुलिस नोएडा पहुंची। पुलिस ने देर रात आम्रपाली समूह के नोएडा व ग्रेटर नोएडा में मौजूद कई ठिकानों और ऑफिसों पर छापे भी मारे। पुलिस ने रात भर इनके ठिकानों से फॉरेंसिक ऑडिट से संबंधित दस्तावेज खंगालती रही।

पूर्वी दिल्ली में फिर शुरू हुई सीलिंग, डेयरी के बाद अब बूचड़खानों पर लगा ताला

इसके बात पुलिस इन तीनों को सबसे पहले लेकर आम्रपाली के नोएडा सेक्टर-62 स्थित कॉरपोरेट ऑफिस पहुंची। पुलिस ने यहां काफी देर तक पूरे दफ्तर की छानबीन कर संबंधित दस्तावेज जमा करने का प्रयास किया। इसके बाद पुलिस तीनों निदेशकों को नोएडा व ग्रेटर नोएडा के अन्य ऑफिसों में भी संबंधित दस्तावेज जमा करने के लिए साथ ले गई।गौरतलब है कि न्यायालय आम्रपाली समूह में फ्लैट बुक कराने वाले 42,000 खरीदारों को मकानों का कब्जा दिलाने के लिये दायर याचिकाओं पर सुनवाई कर रहा था। 
 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.